कटिहार: राजद नेता निर्मल गुप्ता हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, आपसी रंजिश में सुपारी देकर कराई गई हत्या

बीएसएफ के जवान की खुदकुशी किए जाने की वजहों का अभी पता नहीं चला है. (सांकेतिक तस्वीर)

बीएसएफ के जवान की खुदकुशी किए जाने की वजहों का अभी पता नहीं चला है. (सांकेतिक तस्वीर)

कटिहार में राजद नेता और कारोबारी निर्मल गुप्ता हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा किया है. पुलिस का कहना है कि निर्मल गुप्ता की हत्या आपसी रंजिश के चलते साजिश रचकर की गई थी. 3 अप्रैल को सलमारी थाना क्षेत्र के काली मंदिर के पास की गई थी राजद नेता की हत्या.

  • Share this:
कटिहार. सीमांचल के बहुचर्चित राजद नेता निर्मल बुबना हत्याकांड का खुलासा कटिहार पुलिस ने कर दिया है. कटिहार पुलिस ने पूरे मामले को सुलझाते हुए लाइनर सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो लोग अब तक फरार है. सलमारी थाना क्षेत्र के काली मंदिर के पास राजद नेता निर्मल बुबना की हत्या उनके घर के पास ही कर दिया गया था.

राजद के प्रदेश स्तरीय टीम भी निर्मल बुबना के घर तक पहुंच कर हत्याकांड के खुलासे पर पुलिस पर दबाव बनाया था. हत्याकांड में जो खुलासा सामने आया है. उसमें बताया जा रहा है किस अलमारी में भारी के मकान पर रहने वाले शंकर यादव और उनके पिता से पिछले कुछ दिनों पहले निर्मल उधना से विवाद हुआ था. इसी पर मूल रूप से मुंगेर के रहने वाले शंकर यादव ने शार्प शूटर बुलाकर हत्या करवाई थी.

घटना में शामिल प्रोफेशनल किलर अजय मंडल ने भी मीडिया के समक्ष लाया गया, जिसमें उन्होंने बताया कि शंकर यादव 10 से 20 लाख एक काम होने की बात कह कर उन लोगों को इस घटना को अंजाम देने के लिए लाया था. उन लोगों ने नशे की दवा सेवन कर इस घटना को अंजाम दिया है. हालांकि सुपारी के तौर पर कितना पैसा मिला था. इस सवाल पर घटना को अंजाम देने वाले आरोपी अजय अब तक पेमेंट नहीं मिलने की बात कह रहे हैं.

आरक्षी अधीक्षक ने पूरे कांड का खुलासा करते हुए कहा कि निर्मल बुबना की हत्या के बाद उसी दिन अपराधियों ने बगल के ही एक पेट्रोल पंप में दो लाख की लूट की घटना को अंजाम दिया था और वहीं से लगे सीसीटीवी से पुलिस को मामले की सुराग मिला था, जिसके आधार पर पुलिस पूरे मामले को सुलझाते हुए तीनों को गिरफ्तार किया है जबकि इस कांड में शामिल और दो अपराधिक के गिरफ्तारी शेष है, आरक्षी अधीक्षक ने कहा कि घटना के पीछे कोई राजनीतिक वजह नहीं रही है पूरी तरह आपसी विवाद के कारण इस घटना को अंजाम दिया गया है,
बता दें कि 3 अप्रैल को देर शाम निर्मल बुबना को उनके घर के पास ही लगभग 2 दर्जन से अधिक गोली मारकर हत्या कर दिया गया था. निर्मल बुबना के हत्याकांड का खुलासा निश्चित तौर पर पुलिस के लिए एक बड़ी उपलब्धि है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज