NH 31 पर लगे जाम को सलाम क्यों कर रहा है ये परिवार? जानिये कारण

घर से निकलने के कुछ दूर बाद ही अपहरणकर्ता एनएच 31 पर जाम के कारण फंस गया. परेशान होकर उसने मासूम का हाथ-पैर बांध कर बच्चे को एक गड्ढे में छिपा दिया.

News18 Bihar
Updated: February 25, 2019, 7:55 PM IST
NH 31 पर लगे जाम को सलाम क्यों कर रहा है ये परिवार? जानिये कारण
अपहरणकर्ता के चंगुल से छूटा मासूम रौनक अपनी मां की गोद में
News18 Bihar
Updated: February 25, 2019, 7:55 PM IST
'जाम से परेशान जिंदगी' की खबरें तो हमेशा सुर्खियों में रहती है. मगर एनएच 31 में लगा जाम एक परिवार के लिए वररदान बन गया. इसी के कारण ही वह परिवार अपने नन्हें मासूम को कलेजे से लगाए हुए इस 'जाम को सलाम' कर रहा है.  दरअसल जाम के कारण ही अपहरणकर्ता भाग नहीं पाया. पुलिस ने त्वरित करवाई करते हुए बच्चे को बरामद करने के साथ-साथ आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

मामला कटिहार के बरारी थाना क्षेत्र के गुरुबजार के रहने वाले मखाना करोबारी अमित चौधरी के मासूम पुत्र रौनक के अपहरण और बरामदगी से जुड़ा हुआ है.



ये भी पढ़ें - मोकामा शेल्टर होम फरारी कांड: सच और साजिश के बीच खड़े हो रहे सवाल !

रौनक की मां उपासना देवी के अनुसार उनका मामा धर्मेंद्र चौधरी बीते शाम चॉकलेट देने और मेला घुमाने के लालच देकर अपने नाती का अपहरण करने की नीयत से चुपचाप लेकर निकल गया.

लेकिन घर से निकलने के कुछ दूर बाद ही वो एनएच 31 जाम के कारण फंस गया. परेशान होकर उसने कोढ़ा थाना क्षेत्र के डुम्मर पुल के पास हाथ-पैर बांध कर बच्चे को एक गड्ढे में छिपा दिया.

ये भी पढ़ें- सीट शेयरिंग पर मांझी ने उलझा दी है महागठबंधन की 'गांठ' !

बहुत देर तक नाना और नाती के नहीं लौटने पर परिजनों भी गहराई से खोजबीन शुरू की. जिसके बाद पुलिस की मदद से हाथ-पैर बंधे हालत में ही रौनक की बरामदगी हो सकी.
Loading...

बताया जा रहा है कि आरोपी बच्चे को मोटरसाइकिल से बेगूसराय ले जाने वाला था और वहीं से फिरौती की मांग करता.

हालांकि वह अपनी सफाई दे  रहा है, लेकिन रौनक ने पूरी कहानी पुलिस को बता दी. इसके बाद एसडीओ अनिल कुमार ने बताया कि आरोपी अपने बेटे की हत्या के आरोप में पहले जेल जा चुका है.

रिपोर्ट- सुब्रत गुहा

ये भी पढ़ें- 'सफेदपोशों को बचाने के लिए साजिश के तहत लिखी लड़कियों के भागने की पटकथा'
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...