• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • मिसाल: खुद पैसे के अभाव में छोड़ी थी पढ़ाई फिर बस चलाकर बेटे को बनाया सेना का ऑफिसर

मिसाल: खुद पैसे के अभाव में छोड़ी थी पढ़ाई फिर बस चलाकर बेटे को बनाया सेना का ऑफिसर

माता-पिता के साथ सुखविंदर

माता-पिता के साथ सुखविंदर

पंजाबी बिरादरी के सरदार सुरेन्दर का परिवार कटिहार के बरारी प्रखण्ड लक्ष्मीपुर गांव में रहता है. गांव का झोपड़ीनुमा मकान अब पिता की ईमानदारी और मेहनत के लिए चर्चा में है

  • Share this:
    शिक्षा के सहारे अपनी किस्मत बदलने की सोच रखने वाला एक पिता मजबूरी के कारण अपनी पढ़ाई तो पूरी नहीं कर सका लेकिन गाड़ी के हेल्पर और फिर ड्राइवर बनने के बाद उसने पुत्र के सहारे अपने अधूरे सपनों को नई उड़ान दी. हौसलों को उड़ान देने वाली ये कहानी बिहार के कटिहार की है जहां का एक परिवार समाज के लिए मिसाल बन रहा है.

    ये भी पढ़ें- पटना छात्र संघ चुनाव: आचार संहिता लागू होने के बावजूद PK ने की थी कैंपस में एंट्री

    पंजाबी बिरादरी के सरदार सुरेन्दर का परिवार कटिहार के बरारी प्रखण्ड लक्ष्मीपुर गांव में रहता है. गांव का झोपड़ीनुमा मकान अब पिता की ईमानदारी और मेहनत के लिए चर्चा में है. सरदार सुरेन्द्र की मेहनत ने उनके पुत्र सुखविंदर को ऐसी सफलता दिलाई जिससे ये खपरैल मकान आज सफलता का लैंडमार्क बन गया.

    सरदार सुरिन्दर के बेटे सुखविंदर ने सैनिक स्कूल में पढ़ाई ख़त्म करते हुए ''नेशनल डिफेंस अकाडमी'' में 206 वां रैंक हासिल किया है. एनडीए के साथ-साथ उसने देश की और कई कठिन परिक्षा में सफलता हासिल की. सुखविंदर ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को दिया है जिन्होंने कड़ी मेहनत से उनकी ज़िन्दगी को इस तरह से तरासा.

    ये भी पढ़ें- पटना विश्वविद्यालय चुनाव: जानलेवा हमले से नाराज प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर दी ABVP को नसीहत

    सुखविंदर के पिता सुरेन्दर कहते हैं कि वो अपने पिता की मौत के बाद उच्च शिक्षा पूरा नहीं कर पाए थे. पढ़ाई छोड़ने के बाद उन्होंने बस पर खलासी का काम किया लेकिन मेहनत कर बस के खलासी से ड्राइवर बन गए. पुत्र की सफलता में ही अपनी सफलता ढूंढने वाले सुरेंद्र ने कहा कि मेरी इस कोशिश में मेरी नन मैट्रिक पत्नी ने भी भरपूर साथ दिया. सुखविंदर की सफलता पर उनकी मां
    बेबी कौर भी खुश हैं.

    माता-पिता के सपनों को पूरा करने के बाद सुखविंदर भी काफी खुश है और उसने बताया कि पिता के अधूरे सपनों को आगे भी पूरा करने के साथ-साथ मैं देश को भी अपना शत प्रतिशत दूंगा.

    रिपोर्ट- सुब्रत गुहा

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज