VIDEO: इस बिहारी शख्स की इंग्लिश स्टाइल में फर्राटेदार कमेंट्री सुन गोरे भी हो जाएंगे गुम! वीडियो वायरल हुआ तो सुर्खियों में आए

कटिहार के वरुण देव सिंह अंग्रेजों की शैली में इंग्लिश बोलते हैं.
कटिहार के वरुण देव सिंह अंग्रेजों की शैली में इंग्लिश बोलते हैं.

वरुण देव सिंह की अंग्रेजी में क्रिकेट कमेंट्री (Cricket commentary) सुनकर हर कोई दंग रह जाता है. ऑस्ट्रेलियन भाषा शैली हो या इंग्लैंड की बोली, ये उसी स्टाइल में कमेंट्री करते हैं.

  • Share this:
कटिहार. बिहार में युवाओं को अंग्रेजी भाषा (English language) के प्रति अब भी डर है. खासकर सुदूर इलाके में अब भी अंग्रेजी को बेहद कठिन विषय माना जाता है, लेकिन उसी इलाके का एक शख्स अपने दम पर अंग्रेजी पर न सिर्फ कमांड कर ले बल्कि कई अंग्रेज भी उनके आगे पानी भरने लगें तो यह बेहद खास है. मनिहारी अनुमंडल स्थित गोवागाछी गांव के रहने वाले वरुण देव सिंह का एक वीडियो सोशल मीडिया (Video viral in social media) में काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में वे किसी मंझे हुए अंग्रेज कमेंटेटर की तरह क्रिकेट कमेंट्री कर रहे हैं. हूबहू अंग्रेजों जैसे उच्चारण और अंदाज. यही वजह है कि वह सोशल मीडिया में छाए हुए हैं. चाहे वह टि्वटर हो, इंस्टाग्राम हो या फेसबुक, सभी जगह इनका वीडियो वायरल हो रहा है. इनके वीडियो को कई नामी-गिरामी हस्तियों ने भी शेयर किया है.

दरअसल मनिहारी अनुमंडल के अमदाबाद प्रखंड में प्रोजेक्ट कन्या उच्च विद्यालय में कार्यकारी प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत वरुण देव सिंह की अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ है. अंग्रेजी में क्रिकेट के कमेंटेटर की हूबहू विदेशी कमेंटेटर के अंदाज में करते हैं. इनकी अंग्रेजी में क्रिकेट की कमेंट्री सुनकर हर कोई दंग रह जाता है. ऑस्ट्रेलियन भाषा हो या इंग्लैंड की बोली, ये उसी स्टाइल में कमेंट्री करते हैं.





वरुण देव कहते हैं कि अंग्रेजी भाषा को ठोस करने की प्रेरणा उन्हें मुम्बई में रह रहे उनके बड़े भाई से मिली थी. जहां तक क्रिकेट कमेंट्री की बात है तो जब वो पांचवीं क्लास में पढ़ते थे तब उन्होंने 1975 में  विश्व कप का फाइनल देखा था. तभी से उसी अंदाज में बोलने की प्रैक्टिस करने लगे. फिर स्थानीय स्तर पर क्रिकेट में कमेंट्री करना 1992 में प्रारंभ किया.
गौरतलब है कि इनकी अंग्रेजी इतनी अच्छी है कि किसी भी देश की भाषा में ये उस देश के लोगों की बोलने की शैली में क्रिकेट कमेंट्री शत-प्रतिशत कर लेते हैं. वरुण आगे चाहते हैं कि क्रिकेट में कमेंटेटर बनें, लेकिन इतना प्रतिभावान होने के बावजूद इनकी पहुंच नहीं होने से इनका हौसला टूट रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज