Bihar Assembly Elections: बाढ-कटाव से परेशान बेलदौर विधानसभा क्षेत्र की जनता तलाश रही नया विकल्प

(प्रतीकात्मक तस्वीर)
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

प्रत्येक वर्ष बेलदौर विधानसभा क्षेत्र (Beldaur Assembly Constituency) के मतदाता बाढ़, कटाव (floods and erosion) से राहत और पुनर्वास की आस को लेकर अपने मताधिकार का प्रयोग करते हैं, लेकिन चुनाव के बाद यह समस्या जस की तस बनी रहती है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 23, 2020, 4:12 PM IST
  • Share this:
खगड़िया. बेलदौर विधानसभा क्षेत्र (Beldaur Assembly Constituency) से जदयू के उम्मीदवार लगातार 2010 और 2015 मे चुनाव जीत चुके हैं. 2015 के चुनाव में पन्ना लाल पटेल (Panna Lal Patel) को जहां 63216 वोट मिले थे, वहीं दूसरे नंबर पर रहे लोजपा के मिथलेश कुमार निषाद (Mithlesh Kumar Nishad) को 49691 मत मिले थे. इस बार भी पन्ना लाल पटेल को टिकट की उम्मीद है टिकट उन्हें ही मिलेगा और वे फिर से जीत हासिल करेंगे. इसका कारण  रह यह है कि बेलदौर विधानसभा  में सबसे ज्यादा  मतदाता कोयरी और कुर्मी  की है. उसके बाद पंचपनिया (इस वर्ग में पिछड़े वर्ग की 55 जातियां आती हैं) मतदाताओं की संख्या आती है. माना जाता है कि इस वर्ग के अधिकांश लोग नीतीश सरकार के समर्थक हैं. ऐसे मे जदयू के विधायक  पन्ना  लाल पटेल बिना किसी ज्यादा चुनाव प्रचार के बाद जीत के प्रति आश्वस्त हैं.

वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य 
जदयू के टिकट पर दो बार से लगातार  चुनाव  जीत रहे विधायक  पन्ना लाल पटेल की अधिक उम्र होने के कारण अक्सर  तबीयत खराब  रहती है. ऐसे मे  बेलदौर विधानसभा  से जदयू के पुर्व  जिला अध्यक्ष सुनील कुमार की उम्मीदवार बनाने की चर्चा  जोरों पर है. सुनील कुमार  पूर्व में  जिला परिषद उपाध्यक्ष भी रहे  हैं. चौथम प्रखंड  मे घर होने के कारण  यहां के वोटरो का भी साथ मिलने की उम्मीद है.

इन्हें भी है उम्मीद
बेलदौर विधानसभा  में  निषाद जाति की वोटरों की संख्या भी अधिक है. ऐसे में वीआईपी पार्टी भी अपनी जगह तलाशते नजर आ रही है. वहीं कम्युनिस्ट पार्टी भी अपना उम्मीदवार  दे सकती है. हालांकि जदयू नया प्रत्याशी  विधानसभा में लाती है तो विधायक के प्रति एंटी इन्कमबेंसी फैक्टर कुछ कम हो सकता है और लोगों में विकास की नई उम्मीद  जगेगी.



बाढ़- कटाव और पुनर्वास चुनावी मुद्दा 
प्रत्येक वर्ष  बेलदौर विधानसभा क्षेत्र (Beldaur Assembly Constituency) के मतदाता बाढ़, कटाव (floods and erosion) से राहत और  पुनर्वास की आस को लेकर अपने मताधिकार का प्रयोग करते हैं, लेकिन  चुनाव के बाद यह समस्या जस की तस बनी रहती है. बेलदौर विधानसभा क्षेत्र  रेल की सुविधा से महरूम है, इस विधानसभा क्षेत्र में बीपी मंडल सेतु के क्षतिग्रस्त होने से आवागमन में परेशानी हो रही है. आवागमन के लिए बनाए गए स्टील पुल बह जाने के बाद लोगों को जिला मुख्यालय आने के लिए नाव की सवारी करनी पड़ रही है.

कुल मतदाता: 297817
महिला: 140288
पुरुष: 157319
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज