बिहार: उफनती गंडक नदी में डूबी नाव, 20 लोग लापता, 7 सुरक्षित निकले बाहर

एसडीआरएफ की टीम ने नाविक को पहले ही आगाह किया था.
एसडीआरएफ की टीम ने नाविक को पहले ही आगाह किया था.

नाव पर 27 से अधिक लोग सवार थे. अचानक आई तेज आंधी और बारिश के कारण नाव गंडक नदी (Gandak River) में डूब गई. इससे पहले SDRF की टीम ने नाविक को नाव नदी में न ले जाने की सलाह दी थी.

  • Share this:
खगड़िया. बिहार के खगड़िया में बड़ा हादसा हुआ है. यहां के मानसी थाना (Mansi Police Station) क्षेत्र स्थित एकनिया दियरा के पास गंडक नदी (Gandak River) में एक नाव हादसे (Boat Accident) का शिकार हो गया है. इस हादसे में 20 से ज्यादा लोग लापता बताए जा रहे हैं. वहीं, 7 लोग किसी तरह सुरक्षित बाहर निकल गए. मौके पर एसडीआरएफ और गोताखोरों की टीम रवाना हो गई है. लापता लोगों को गंडक नदी में खोजा जा रहा है.

जानकारी के मुताबिक, घटना मंगलवार शाम की है. नाव पर 27 से अधिक लोग सवार थे. कहा जा रहा है कि तेज आंधी और बारिश के कारण नाव गंडक नदी में डूब गई. नाव हादसे की सूचना मिलने के बाद खगड़िया डीएम आलोक रंजन घोष और एसपी मीनू कुमारी सहित सभी अधिकारी घटनास्थल पर एसडीआरएफ की टीम के साथ पहुंच गए हैं.

तीन घंटे तक चला रेस्क्यू ऑपरेशन
एसडीआरएफ की टीम और गोताखोरों के द्वारा गंडक नदी में लापता लोगों की खोजबीन करने के लिए तीन घंटे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया, लेकिन अंधेरा होने के चलते कुछ भी पता नहीं चला. हलांकि, एसडीआरएफ की टीम के द्वारा लाइट बोट के सहारे भी खोजबीन की गई, लेकिन लापता लोगों के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं मिली. ऐसे में रात होने के चलते रेस्क्यू ऑपरेशन को बंद कर दिया गया.
27 से ज्‍यादा लोग थे सवार


स्थानीय लोगों ने बताया कि जनरेटर से चलने वाली छोटी नाव थी, जिसपर 27 से अधिक लोग सवार होकर जा रहे थे. नाव पर एकनिया दियारा, इंगलिस टोला, सोनवर्षा दियारा और मुंगेर जिले के टीकारामपुर गांव के लोग सवार थे. इसमें ज्यादातर औरतें और बच्चे थे. वहीं, खगड़ि‍या के डीएम आलोक रंजन घोष ने बताया कि अभी तक स्थानीय लोगों के द्वारा ही जानकारी मिलने के बाद एसडीआरएफ की टीम के द्वारा नदी में खोजबीन की जा रही है, जो भी लोग सुरक्षित निकले हैं उनसे संपर्क कर और जानकारी ली जा रही है. अंधेरा होने के कारण अहले सुबह से फिर एसडीआरएफ की टीम के द्वारा खोजबीन शुरू की जाएगी.

एसडीआरएफ की टीम ने नाविक को पहले ही किया था आगाह
बाढ़ के समय होने के कारण लगातार नदियों में एसडीआरएफ की टीम घूमती रहती है. इसी दौरान एसडीआरएफ के द्वारा नाविक को कहा गया था कि वह नाव नदी में न ले जाए, क्योंकि मौसम खराब हो रहा है. फिर जैसे ही एसडीआरएफ की टीम वहां से निकली तो नाविक ने नाव को खोल दिया. ऐसे में तेज आंंधी और बारिश में नाव नदी में डूब गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज