बुलेट प्रूफ जैकेट होता तो बच जाती जांबाज दारोगा आशीष कुमार सिंह की जान

आशीष के पास न तो बुलेस प्रूफ जैकेट था और न ही अत्याधुनिक हेलमेट. वो सीधे एनकाउंटर के लिए ऑन द स्पॉट पहुंच गए.

News18 Bihar
Updated: October 14, 2018, 12:06 PM IST
बुलेट प्रूफ जैकेट होता तो बच जाती जांबाज दारोगा आशीष कुमार सिंह की जान
शहीद दारोगा आशीष
News18 Bihar
Updated: October 14, 2018, 12:06 PM IST
कुख्यात दिनेश मुनि गैंग के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए खगड़िया के पुलिस संब इंस्पेक्टर आशीष कुमार सिंह की जान बच सकती थी अगर पुलिस महकमे ने उन्हें बुलेट प्रूफ जैकेट दिया होता. आशीष के पास न तो बुलेस प्रूफ जैकेट था और न ही अत्याधुनिक हेलमेट. वो सीधे एनकाउंटर के लिए ऑन द स्पॉट पहुंच गए.

जब खगड़िया और भागलपुर की सीमा के पास सलारपुर दियारा में दुर्दांत अपराधियों से लोहा लेने पसराहा थानाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह पहुंचे तो उन्हें झोपड़ी के भीतर छिपे लोगों की संख्या का ठीक से अंदाजा नहीं था.

उन्होंने एक अपराधी को अपने सर्विस रिवॉल्वर से ढेर कर दिया और सीधे झोपड़ी में घुस गए लेकिन वहां एक से ज्यादा अपराधी और थे जिन्होंने अंधाधुंध फायरिंग की. पांच गोलियां आशीष के पेट और सीने में लगी. अगर उनके पास बुलेट प्रूफ जैकेट होता तो न केवल बिहार पुलि अपने एक जांबाज जवान को खोने से बचती बल्कि वहां मौजूद सारे अपराधी ढेर हो गए होते.

अपराधियों की फायरिंग में घायल होने के बावजूद अंतिम सांस तक डटे रहे दारोगा आशीष

मुठभेड़ के दौरान गोली लगने के बावजूद वो डटे रहे और एक अपराधी को ढेर किया. मिशन सफल पूरा होता दिखाई दे रहा था तभी चार और गोलियां उनके सीने और पेट में समा गईं. बिहार पुलिस ने एक जांबाज दारोगा खो दिया.

शहीद दारोगा अशीष कुमार को अपनी वर्दी पर नाज था. 2009 में दारोगा की परीक्षा पास करने के बाद वो जहां भी गए उस थाना क्षेत्र में अपनी अलग पहचान कायम की. बेगूसराय में भी दो थाना क्षेत्रों में उन्होंने अपराधियों को नाको चने चबवाया था.

उनके साथ गए एक सिपाही को भी कमर के नीचे गोली लगी जिसका इलाज भागलपुर अस्पताल में चल रहा है.
Loading...

(दिग्विजय की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें -

Navratri 2018: देश की सुख-समृद्धि के लिए मां दुर्गा की ऐसी कड़ी तपस्या नहीं देखी होगी

पैसे नहीं थे तो आठवीं क्लास के बच्चे ने रच डाली खुद के अपहरण की साजिश

‘पुलिस की छाती में गोली ठोंक रहे अपराधी, नीतीश जी कहते हैं ऑल इज वेल’
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->
काउंटडाउन
काउंटडाउन 2018 विधानसभा चुनाव के नतीजे
2018 विधानसभा चुनाव के नतीजे