बिहार: गरीब परिवार से फीस के बदले महिला डॉक्टर ने किया नवजात बच्चे का सौदा!

डॉक्टर पर महिला के परिजनों ने आरोप लगाया है.
डॉक्टर पर महिला के परिजनों ने आरोप लगाया है.

महिला डॉक्टर का कहना है कि परिवार के पास फीस (Fees) देने के लिए पैसे नहीं थे. मदद करने के मकसद से बच्चे को रख लिया था, फिर सुबह वापस भी दे दिया. 

  • Share this:
खगड़िया. बिहार के खगड़िया से मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है. मडैया थाना के देवरी गांव की रहने वाली गर्भवती महिला (Pregnant Woman) किरण देवी को लेबर पेन होने के बाद अपने घर से अस्पताल के लिए निकली, लेकिन कुछ देर बार रास्ते में उसने बच्चे को जन्म दे दिया. उसके बाद महिला के परिजनों ने मड़ैया बाजार में चल रहे एक निजी अस्पताल में उसे भर्ती कराया जहां महिला किरण देवी ने दूसरे बच्चे को भी जन्म दिया. इसके बाद महिला डाॅक्टर (Lady Doctor) एन बानो ने महिला के परिवार वालों से ऑपरेशन फीस के रूप में सात हजार रुपये की मांग की. महिला के परिवार वालों ने गरीबी की बात बताते हुए रुपये नहीं होने की बात कही.

महिला के परिजनों ने मड़ैया थाना में आवेदन देते हुए शिकायत की है कि डाॅक्टर से जब फीस के रूप में सात हजार रुपये नहीं होने की बात कही गई तो महिला डाॅक्टर ने एक बच्चे को दस हजार देकर अपने पास रखने की बात कही. फिर महिला को सात हजार रुपये देकर लिखवाकर कागज रख लिया. थाना पर आवेदन देने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई. घटना की खबर जैसे ही इलाके में फैली तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए. हंगामा देखते हुए डॉक्टर ने बच्चे को वापस कर दिया.

ये भी पढ़ें: बारां: नाबालिग लड़कियों ने बोला- तीन दिन तक हुआ गैंगरेप, पुलिस का साफ इनकार



डॉक्टर ने कही ये बात
मड़ैया में निजी अस्पताल की महिला चिकित्सक एन बानो ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि महिला बहुत गरीब थी. उसके पास फीस के लिए पैसे नहीं थे. इसके बाद दस हजार रुपये में बच्चे को किसी जरूरतमंद को देने के लिए रख लिया था, लेकिन सुबह होते ही महिला के परिवार वाले हंगामा  करने लगे इसके बाद बच्चों को परिजनों को सौंप दिया गया. बच्चे को लेकर किसी प्रकार की कोई  खरीद फरोख्त नहीं हुई. सिर्फ बच्चे को बचाना मकसद था. वहीं थाना प्रभारी रत्नेश कुमार ने बताया कि बच्चे को लेने की बात सामने आई, लेकिन किसी ने थाना पर लिखित आवेदन नहीं दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज