CM नीतीश ने दी दखल तब सिक्किम सरकार ने सौंपा बिहार के नुरुल हुदा का शव, कोरोना से हुई थी मौत

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

Bihar News: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह तमांग को भेजे अपने पत्र में लिखा कि मैं आपसे व्यक्तिगत रूप से इस मामले को देखने और शव को जल्द से जल्द मृतक के परिजनों को सौंपने का अनुरोध करता हूं.

  • Share this:
    रिपोर्ट- आशीष सिन्हा
    किशनगंज. पोठिया प्रखंड के रहनेवाले नुरुल होदा की सिक्किम में कोरोना से मौत हो गई थी. इसके बाद उनके डेड बॉडी को वहां से किशनगंज लाने नहीं दिया जा रहा था. इस मसले पर सांसद डॉ जावेद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से हस्तक्षेप की अपील की थी. जिसके बाद सीएम नीतीश ने सिक्किम के अपने समकक्ष प्रेम सिंह तमांग को पत्र लिखकर बुधवार को आग्रह किया था कि बिहार के एक निवासी का शव, मृतक के शोक संतप्त परिवार के सदस्यों को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया जाए. आज इसका असर हुआ और वहां की सरकार ने किशनगंज से मजिस्ट्रेट को बुलाकर डेड बॉडी को सुपुर्द कर दी जिसे  एम्बुलेंस से किशनगंज लाया गया.

    बता दें कि मुख्यमंत्री ने बुधवार को लिखे पत्र में कहा है कि मुझे सूचना दी गई है कि सिक्किम के गैंगटॉक में किशनगंज के पोठिया प्रखंड के दुबानोची गांव के निवासी नुरुल हुदा का कोरोना से निधन 24 मई हो गया. उनका परिवार उनके शव को अपने पैतृक स्थान किशनगंज लाना चाहता है. किशनगंज के जिला प्रशासन द्वारा गैंगटोक जिला प्रशासन से 24 मई को ही इसके लिए आग्रह किया गया था. पर, उनके आग्रह को स्वीकार नहीं किया गया. मुख्यमंत्री ने आग्रह किया है कि आप व्यक्तिगत रूप से इस विषय पर ध्यान दें, ताकि परिवार को पार्थिव शरीर सुपुर्द हो सके.



    इस मामले में एसडी ओ   शाहनवाज अख्तर नियाजी ने बताया कि हमलोगों  ने 24  मई को ही वहां के एसडीएम से बात की थी. शव को भेजने की बात हुई थी पर वहां से नहीं भेजा जा रहा था. मुख्यमंत्री के दखल दने के बाद के बाद शव हमारे भेजे गए मजिस्ट्रेट के हवाले किया गया.चूंकि मरनेवाला मुस्लिम है और वहां कोरोना पीड़ित बॉडी को जलाया जा रहा था, ऐसे में परिजन चाहते थे कि उन्हें दफनाया जाए. लेकिन वहां की सरकार मान नहीं रही थी तब परिजनों ने सांसद के जरिये सीएम नीतीश से अपील की थी.