लाइव टीवी

CAB और NRC के विरोध में जमायत ए उलेमा हिंद ने किया प्रर्दशन, अररिया, छपरा और मुंगेर में भी निकले जुलूस

News18 Bihar
Updated: December 13, 2019, 4:10 PM IST
CAB और NRC के विरोध में जमायत ए उलेमा हिंद ने किया प्रर्दशन, अररिया, छपरा और मुंगेर में भी निकले जुलूस
किशनगंज में जमात ए उलेमा हिंद ने CAB और NRC के विरोध में जुलूस निकाला.

किशनगंज चूड़ी पट्टी चौक से गांधी चौक तक निकले इस जुलूस में हजारों लोग शामिल हुए. बताया जा रहा है मस्जिदों में नमाज के बाद लोग इकट्ठे होकर इस बिल का विरोध करने उतरे और हाथों में तख्ती लेकर शांति पूर्ण प्रदर्शन किया.

  • Share this:
किशनगंज. नागरिकता संशोधन कानून को लेकर नॉर्थ-ईस्ट (North-East) के राज्यों असम, मेघालय और त्रिपुरा में तनावपूर्ण हालात बने हुए हैं. वहीं पश्चिम बंगाल (West Bengal) में इस कानून का कड़ा विरोध किया जा रहा है. अब इसका असर बिहार में भी देखने को मिल रहा जहां किशनगंज में जमात ए उलेमा हिंद (Jamaat e Ulema Hind) ने CAB और NRC के विरोध में शुक्रवार बड़ा विरोध प्रदर्शन किया गया. इसके लिए निकले जुलूस में हजारों लोग शामिल हुए और लोगों ने कहा कि यह बिल हिंदुओं और मुसलमानों के बीच नफरत पैदा कर रहा है.

किशनगंज चूड़ी पट्टी चौक से गांधी चौक तक निकले इस जुलूस में हजारों लोग शामिल हुए. बताया जा रहा है मस्जिदों में नमाज के बाद लोग इकट्ठे होकर इस बिल का विरोध करने उतरे और हाथों में तख्ती लेकर शांति पूर्ण प्रदर्शन किया. हालांकि इस दौरान प्रशासन ने एहतियातन सुरक्षा के मद्देनजर पर्याप्त सुरक्षा बलों के इंतजाम किए थे. सैप जवानों की भी तैनाती कई जगहों पर की गई थी.

मस्जिदों में नमाज के बाद निकले जुलूस में हजारों लोग शामिल हुए.


बता दें कि गुरुवार को भी नागरिकता संशोधन बिल और एनआरसी के विरोध में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने जुलूस निकाला था. पार्टी के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को पौआखाली में प्रदर्शन किया था. इसमें शामिल नेताओं ने केंद्र सरकार को जमकर कोसा व बिल के खिलाफ गुस्से का इजहार किया था.

मुंगेर, अररिरिया और छपरा में भी अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने इस बिल के खिलाफ विशाल प्रदर्शन किया. छपरा में लोगों ने समाहरणालय का घंटों घेराव किया. प्रदर्शन कर रहे लोगों ने इस बिल को देश के लिए काला कानून बताया और जिस दिन या बिल पारित हुआ उस दिन को काला दिन बताते हुए कहा कि पूरे विश्व में इस बिल के कारण भारत की छवि खराब हो रही है.

इनपुट- आशीष/संतोष गुप्ता

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए किशनगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 4:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर