Assembly Banner 2021

बाढ़ के तीन महीने बाद भी ध्वस्त हैं किशनगंज के ग्रामीण इलाकों की सड़कें

किशनगंज में बाढ़ के गुजरे तीन महीने बीत गए हैं लेकिन ग्रामीण यातायात की ध्वस्त व्यवस्था पूरी तरह दुरुस्त नहीं हो सकी है और अभी भी लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

  • Share this:
किशनगंज में बाढ़ के गुजरे तीन महीने बीत गए हैं लेकिन ग्रामीण यातायात की ध्वस्त व्यवस्था पूरी तरह दुरुस्त नहीं हो सकी है और अभी भी लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

किशनगंज के ग्रामीण इलाकों में बीते अगस्त में आई बाढ़ के बाद के हालत ये बता रहे हैं कि व्यवस्था को दुरुस्त करने में स्थानीय शासन की भूमिका कितनी लापरवाह है.

हम बात कर रहे हैं किशनगंज के दिघलबैंक प्रखंड के आठगछी पंचायत के ग्रामीण सड़क की जिसकी ध्वस्त हुई पुलिया को आज तक ठीक नहीं किया जा सका है. स्थानीय लोग रोजमर्रा में होने वाली दिक्कतों पर अपनी असुविधा बयां करते हुए अपनी तकलीफ पर ईटीवी की नजर डालने पर शुक्रिया अदा भी किया.



आठगछी पंचायत के हालत पर जब किशनगंज के एमपी से बात की तो उन्होंने मामले पर दुख जताया और हालत बदलने में अपनी पहल का आश्वासन दिया.
वहीं जिले के डीएम की इस मामले में मिली प्रतिक्रिया से यह साफ हुआ की पंचायतों के मुखिया द्वारा सड़क निर्माण करने की व्यवस्था की गई थी और उनके द्वारा काम नहीं कराये जाने से ही आठगाछी या जिले के दूसरे जगहों पर ऐसे हालत बने हुए हैं.

अब डीएम पंचायत के कामकाज पर क्या करेंगे या मामले को मुखिया पर ही छोड़ देंगे का यह सवाल दिलचस्प है क्योकि पंचायती व्यवस्था ऑटोनॉमस होती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज