अपना शहर चुनें

States

जहरीला भोजन खाने से किशनगंज एएमयू के कई छात्र पड़े बीमार

किशनगंज में नवस्थापित अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय की शाखा में बीएड की पढ़ाई कर रहे दर्जनों छात्र जिसमें 4 लड़कियां भी हैं हास्टल मेस का खराब खाना खाने से बीमार पड़ गए हैं. सभी बीमार छात्रों ईलाज किशनगंज सदर अस्पताल में भर्ती कराकर किया गया जिसके बाद अब उनकी हालत में सुधार है और कुछ वापस एएमयू हॉस्टल भी आ गए हैं. एएमयू प्रशासन ने पीड़ितों लिए एबुलेंस और जरूरी व्यवस्था रखने का दावा किया है.
किशनगंज में नवस्थापित अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय की शाखा में बीएड की पढ़ाई कर रहे दर्जनों छात्र जिसमें 4 लड़कियां भी हैं हास्टल मेस का खराब खाना खाने से बीमार पड़ गए हैं. सभी बीमार छात्रों ईलाज किशनगंज सदर अस्पताल में भर्ती कराकर किया गया जिसके बाद अब उनकी हालत में सुधार है और कुछ वापस एएमयू हॉस्टल भी आ गए हैं. एएमयू प्रशासन ने पीड़ितों लिए एबुलेंस और जरूरी व्यवस्था रखने का दावा किया है.

किशनगंज में नवस्थापित अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय की शाखा में बीएड की पढ़ाई कर रहे दर्जनों छात्र जिसमें 4 लड़कियां भी हैं हास्टल मेस का खराब खाना खाने से बीमार पड़ गए हैं. सभी बीमार छात्रों ईलाज किशनगंज सदर अस्पताल में भर्ती कराकर किया गया जिसके बाद अब उनकी हालत में सुधार है और कुछ वापस एएमयू हॉस्टल भी आ गए हैं. एएमयू प्रशासन ने पीड़ितों लिए एबुलेंस और जरूरी व्यवस्था रखने का दावा किया है.

  • Share this:
किशनगंज में नवस्थापित अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय की शाखा में बीएड की पढ़ाई कर रहे दर्जनों छात्र जिसमें 4 लड़कियां भी हैं हास्टल मेस का खराब खाना खाने से बीमार पड़ गए हैं. सभी बीमार छात्रों ईलाज किशनगंज सदर अस्पताल में भर्ती कराकर किया गया जिसके बाद अब उनकी हालत में सुधार है और कुछ वापस एएमयू हॉस्टल भी आ गए हैं. एएमयू प्रशासन ने पीड़ितों लिए एबुलेंस और जरूरी व्यवस्था रखने का दावा किया है.

इस घटना से पीड़ित छात्र काफी खफा हैं और इसके बाद ये सवाल उठने लगा है कि क्या एएमयू-किशनगंज में खराब खाना दिया जा रहा है ? सदर अस्पताल के डाक्टरों ने इस घटना को खराब खाना खाने की वजह बताया है जबकि एएमयू प्रशासन ने इसे फूड प्वाइजनिंग मामला करार दिया है. वहीं अध्ययन केंद्र के निदेशक ने कहा कि भोजन गुणवत्ता पूर्ण था और लगता है कि छात्र बाहर से खाना या कुछ कहते रहते हैं ये मामला उसी की वजह से हुआ है या इलाके में जारी डायरिया का प्रकोप हो सकता है.

एएमयू के लिए करोड़ों के बजट प्रावधान और आवंटन के बीच छात्रों को खराब खाना मिलना एक बड़ी लापरवाही और चर्चा विषय के रूप में किशनगंज के लोगों के सामने है.



आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज