लाइव टीवी

पंचायत ने लगाई रेप पीड़िता के गर्भ की कीमत 50 हजार

IBN7
Updated: December 4, 2014, 2:34 PM IST
पंचायत ने लगाई रेप पीड़िता के गर्भ की कीमत 50 हजार
बिहार के किशनगंज जिले के बहादुरगंज प्रखंड में दुष्कर्म की शिकार एक 10वीं की छात्रा के पेट में पल रहे गर्भ की कीमत पंचायत ने 50 हजार रुपए लगाई है। पंचायत से न्याय की उम्मीद छोड़ चुकी पीड़िता ने अब पुलिस शरण में पहुंच न्याय की गुहार लगाई है। किशनगंज जिले के महिला थाना की प्रभारी श्वेता कुमारी ने बताया कि पीड़िता के बयान के आधार पर महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और मामले की छानबीन शुरू कर दी गई है।

बिहार के किशनगंज जिले के बहादुरगंज प्रखंड में दुष्कर्म की शिकार एक 10वीं की छात्रा के पेट में पल रहे गर्भ की कीमत पंचायत ने 50 हजार रुपए लगाई है। पंचायत से न्याय की उम्मीद छोड़ चुकी पीड़िता ने अब पुलिस शरण में पहुंच न्याय की गुहार लगाई है। किशनगंज जिले के महिला थाना की प्रभारी श्वेता कुमारी ने बताया कि पीड़िता के बयान के आधार पर महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और मामले की छानबीन शुरू कर दी गई है।

  • IBN7
  • Last Updated: December 4, 2014, 2:34 PM IST
  • Share this:
बिहार के किशनगंज जिले के बहादुरगंज प्रखंड में दुष्कर्म की शिकार एक 10वीं की छात्रा के पेट में पल रहे गर्भ की कीमत पंचायत ने 50 हजार रुपए लगाई है। पंचायत से न्याय की उम्मीद छोड़ चुकी पीड़िता ने अब पुलिस शरण में पहुंच न्याय की गुहार लगाई है। किशनगंज जिले के महिला थाना की प्रभारी श्वेता कुमारी ने बताया कि पीड़िता के बयान के आधार पर महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और मामले की छानबीन शुरू कर दी गई है।

सात महीने की गर्भवती पीड़िता का आरोप है कि सात महीने पहले उसे घर में अकेली पाकर गांव के ही रियाज और उसके तीन भाई घर में घुस आए। रियाज ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता ने डर के कारण उस समय किसी को इस बात की जानकारी नहीं दी। लेकिन बाद में गर्भवती होने पर उसने मां को पूरी घटना के बारे में बताया।

इस मामले को लेकर गांव में पंचायत भी बैठाई गई, जिसमें आरोपियों ने पैसे का प्रलोभन देकर मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की। पंचायत ने 50 हजार रुपए लेकर पीड़िता को गर्भपात कराने फैसला सुनाया। पंचायत से न्याय की उम्मीद छोड़ चुकी पीड़िता ने मां के साथ महिला थाना पहुंचकर इस मामले की एफआईआर दर्ज कराई है।

पुलिस अधिकारी श्वेता कुमारी ने बताया कि अगर पंचायत के लोग दोषी पाए गए, तो उन पर भी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि दर्ज एफआईआर में मोहम्मद रियाज और उसके साथियों गुल मोहम्मद, मुन्ना और महिनाज आलम को नमाजद आरोपी बनाया गया है। सभी आरोपी फरार बताए जा रहे हैं। पीड़िता के पिता राजस्थान में नौकरी करते हैं और मां कृषि क्षेत्र में मजदूरी करती हैं।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए किशनगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2014, 2:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर