Home /News /bihar /

roaring rivers flood water inundated kishanganj villages and roads people force to leave homes extremely heavy rain continue nodmk3

किशनगंज के गांवों में घुसा बाढ़ का पानी, तराई के इलाके में मूसलाधार बारिश से नदियां उफनाईं, कटाव तेज

लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से बिहार में बाढ़ की स्थिति उत्‍पन्‍न हो गई है. किशनगंज के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से बिहार में बाढ़ की स्थिति उत्‍पन्‍न हो गई है. किशनगंज के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Kishanganj Flood: दक्षिण-पश्चिम मानसून के सक्रिय होने के साथ ही नेपाल से सटे बिहार के जिलों में लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है. नेपाल की तराई में जबरदस्‍त बारिश होने की वजह से बिहार की सीमा में आने वाली नदियां उफना गई हैं. इससे जमीन का कटाव तेज होने के साथ ही कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है.

अधिक पढ़ें ...

आशीष सिन्‍हा

किशनगंज. दक्षिण-पश्चिम मानसून के सक्रिय होने के साथ ही नेपाल की सीमा से लगते बिहार के जिलों में लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है. तराई के इलाके में भारी से बहुत भारी बारिश होने के कारण नदियां उफान पर हैं. इससे किशनगंज जिला काफी प्रभावित हुआ है. जिले के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी भर गया है. साथ ही कटाव भी तेज हो गया है और सड़कें भी डूब गई हैं. इससे भयभीत ग्रामीण अपने घरों को छोड़ने के लिए मजबूर हो गए हैं. ग्रामीण सुरक्षित जगहों की ओर जाने लगे हैं. बता दें कि बारिश के मौसम में सीमांचल का इलाका अक्‍सर ही बाढ़ की चपेट में आ जाता है. इससे लाखों लोग प्रभावित होते हैं.

नेपाल के तराई क्षेत्र और किशनगंज में लगातार हो रही बारिश से रतुआ, कंकाई आदि नदियों के जलस्तर में वृद्धि हो गई है. इससे टेढ़ागाछ प्रखंड के निचले इलाके में पानी घुस गया है. टेढ़ागाछ प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत हवा कौल, चिल्हनिया पंचायत के सुहिया गांव सहित कई अन्‍य गांवों में पानी भर गया है. कई जगहों पर प्रधानमंत्री सड़क और मुख्यमंत्री सड़क भी डूब गई है. नदियों को पार करने के लिए बनाए गए चचरी के पुल भी तेज बहाव में बह गए हैं. ऐसे में लोग नाव के सहारे नदी पार करने को मजबूर हैं. बाढ़ वाले इलाके में एक बच्ची को बूढ़े पिता के साथ खुद ठेला में जरूरी सामान लेकर सुरक्षित जगह जाते हुए देखा गया.

कटाव के कारण नदी में समा रहे घर और खेत, अब लाखों लोगों के लिए लाइफलाइन रामपुर पुल पर खतरा 

Flood in Kishanganj

किशनगंज के निचले इलाकों में स्थित गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

रेतुआ नदी के कटाव की चपेट में गांव भोरहा, आशा, धापरटोला, लौधाबाड़ी, डोरिया, दर्जनटोला, गढ़ीटोला, खजूरबाड़ी, हाथीलद्दा, हवाकोल, बभनगांवा, चिल्हनिया, सुहिया हाट टोला, हाटगाव, आदिवासी टोला, कोठीटोला, देवरी आदि गांव आ चुके हैं. वहीं, कनकई नदी के जलस्तर में वृद्धि से कटाव की जद में बीबीगंज, कंचनबाड़ी, भेलागोरी, पत्थरघट्टी, सुंदरबारी, मालीटोला, मटियारी, हरहरिया, बलवाडांगी, सिरनियां, ग्वालटोली सहित दर्जनों गांव आ चुके हैं. साथ ही इन गांवों में बाढ़ का पानी भी घुस गया है. मानसून के शुरुआत दौर में ही बाढ़ और कटाव ने प्रभावित क्षेत्रों के लोगों की समस्‍याएं बढ़ा दी हैं.

Tags: Bihar flood, Bihar News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर