लखीसराय: गिरफ्तार नक्सली ने किया बड़ा खुलासा, विधानसभा चुनाव के दौरान दहलाने की है साजिश

गिरफ्तार नक्सली के पास से हथियार, डेटोनेटर और अन्य सामान बरामद किये गये.
गिरफ्तार नक्सली के पास से हथियार, डेटोनेटर और अन्य सामान बरामद किये गये.

विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) के मद्देनजर बिहार के लखीसराय और जमुई जिले में नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन ललकार (Operation Lalkar) चलाया जा रहा है.

  • Share this:
लखीसराय. विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) के मद्देनजर पुलिस उपमहानिरीक्षक, मुंगेर मनु महाराज के निर्देश पर नक्सलियों (Naxalites) के विरुद्ध ऑपरेशन ललकार (Operation Lalkar) चलाया जा रहा है. कजरा, पीरीबाजार एवं चानन के जंगलों में इसके तहत सर्च ऑपरेशन जारी है. लखीसराय एसपी सुशील कुमार, जमुई एसपी पीके मंडल और कोबरा बटालियन के कमांडेंट रविशंकर कुमार सम्मलित रूप से अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं.

अभियान के तहत पुलिस और कोबरा की संयुक्त टीम बरमसिया जंगल पहुंची, दो देखा कि 20-25 की संख्या में लोग जंगल की ओर भाग रहे थे. पुलिस ने उनका पीछा किया और सावधानी के साथ पूरे एरिया की घेराबंदी की. सर्च के दौरान एक संदिग्ध को कुछ सामानों के साथ पकड़ा गया. बाद में पूछताछ के दौरान उसके नक्सली होने की पुष्टि हुई.

गिरफ्तार नक्सली मोनू कुमार साह (उम्र - लगभग 19 साल) पिता सुनील साह, नौडिहिया, थाना तेतरिया, जमुई का रहने वाला है. उसके पास से पुलिस ने डेटोनेटर,  हथकड़ी, पिट्ठू, समेत कई नक्सली दस्तावेज बरामद किये.




पूछताछ में बड़ा खुलासा 

लखीसराय एएसपी अभियान अमृतेश कुमार ने बताया कि गिरफ्तार नक्सली से पूछताछ की गई. जिससे नक्सली गतिविधि के संदर्भ में अनेक जानकारियां प्राप्त हुई हैं. गिरफ्तार नक्सली ने बताया कि सभी बड़े नक्सली बरमसिया इलाके में विधानसभा चुनाव के दौरान वारदात को अंजाम देने के लिए योजना बनाने के लिए जमा हुए हैं. पूछताछ में उसने श्रृंगी ऋषि धाम मंदिर के पुजारी  नीरज झा की हत्या के संदर्भ में भी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी है. उसने इसमें शामिल कुछ षड्यंत्रकारियों और उनकी हत्या में शामिल नक्सलियों के नाम बताए हैं.

पुलिस पूछताछ में मिली जानकारी पर आगे की कार्रवाई करने में जुटी है. आगे एंटी नक्सल अभियान जारी रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज