बिहार चुनाव: अपनों के बीच ही 'घिरे' बिहार के मंत्री, आसान नहीं विधानसभा की राह

बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है.
बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है.

लखीसराय विधानसभा से लगातार तीसरी बार चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे सूबे के श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा की राह इस बार आसान नही दिख रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2020, 7:42 AM IST
  • Share this:
लखीसराय. लखीसराय विधानसभा सीट (Lakhisarai Assembly Seat) पर मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है. सूबे के श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा (Vijay Kumar Sinha) के खिलाफ उन्हीं के जाती के चार-चार उम्मीदवार चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. सब का एक ही उद्देश्य है कि एनडीए प्रत्याशी विजय कुमार सिन्हा को इस बार के चुनाव में हार का सामना करना पड़े. विजय कुमार सिन्हा के खिलाफ एनडीए (NDA) के ही दो बागी उम्मीदवार जेडीयू (JDU) के सुजीत कुमार और बीजेपी की कुमारी बबीता तो वहीं महागठबंधन से बागी उम्मीदवार फुलैना सिंह चुनावी मैदान में हैं. वहीं महागठबंधन ने भी बड़हिया के अमरेश कुमार अनीस को कांग्रेस पार्टी से टिकट देकर इस मुकाबले को काफी दिलचस्प बना दिया है. सभी प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं और अपनी जीत का दावा कर रहे हैं.

लखीसराय विधानसभा से लगातार तीसरी बार चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहें सूबे के श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा की राह इस बार आसान नही दिख रही है. लखीसराय विधानसभा के लगभग हर गांव में मंत्री विजय कुमार सिन्हा का जबरदस्त विरोध देखा जा रहा है. बावजूद इस विरोध के इतर विजय कुमार सिन्हा अपनी जीत का दावा कर रहे हैं. विजय सिन्हा का मानना है कि विकास के नाम पर चुनावी मैदान में हैं. सरकार के कामकाज और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चेहरे पर एकबार फिर जनता वोट करेगी.

लेकिन विजय कुमार सिन्हा को पटखनी देने एनडीए के ही दो बागी उम्मीदवार निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जनता के बीच जाकर अपनी जीत का दावा कर रहे हैं. बीजेपी की बागी कुमारी बबीता तो वही जेडीयू के बागी सुजीत कुमार चुनावी मैदान में हैं. सुजीत कुमार का मानना है कि जनता का उनको भरपूर समर्थन मिल रहा है. जनता यहां के स्थानीय विधायक से उब चुकी है, इसलिए उनका हर जगह विरोध हो रहा है.



अब बात महागठबंधन की करें तो महागठबंधन के उम्मीदवार अमरेश कुमार अनीस को पटखनी देने महागठबंधन के ही बागी फुलैना सिंह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में कूद गए हैं. फुलैना सिंह का मानना है कि महागठबंधन ने जिसे टिकट दिया है वो कमजोर उम्मीदवार है, इसलिए महागठबंधन का उम्मीदवार जनता मुझे ही मान रही है और चुनाव में मुझे ही वोट करेगी. वहीं कांग्रेस प्रत्याशी ने भी वर्तमान विधायक पर हमला बोलते हुए अपनी जीत का दावा किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज