Kargil Vijay Diwas: ‘पति के शव को देखने पहली बार पहुंची थी ससुराल’

Kargil Vijay Diwas: करगिल युद्ध में शहीद नायक नीरज की पत्नी रूबी देवी बताती हैं कि 6 महीने की बेटी गोद में थी. मेरा गौना (शादी के बाद ससुराल आना) भी नहीं हुआ था. लड़कियां अपने गौने में पति के साथ ससुराल में पहला कदम रखती हैं. लेकिन मैं पति के शव को देखने ससुराल पहुंची थी.

News18 Bihar
Updated: July 26, 2019, 4:04 PM IST
News18 Bihar
Updated: July 26, 2019, 4:04 PM IST
करगिल युद्ध को आज 20 साल पूरे हो गए. आप शायद भूल गए हों, लेकिन बिहार के लखीसराय की रूबी देवी 20 साल पहले मिले घाव को आज तक नहीं भुला पाई हैं. पाकिस्तान के साथ हुए युद्ध में रूबी देवी ने अपने वीर पति को खो दिया. रूबी देवी को आज भी वो दिन साफ-साफ याद है. आखों में डबडबाए आंसुओं और रूंधे हुए गले से रूबी कहती हैं कि उनकी (पति) याद में ही हम जिंदा हैं.

शहीद नायक नीरज की पत्नी रूबी देवी बताती हैं कि 6 महीने की बेटी गोद में थी. मेरा गौना (शादी के बाद ससुराल आना) भी नहीं हुआ था. लड़कियां अपने गौने में पति के साथ ससुराल में पहला कदम रखती हैं. लेकिन मैं पति के शव को देखने ससुराल पहुंची थी.

बता दें कि वर्ष 1999 में पाकिस्तान के साथ करगिल युद्ध हुआ था. इसमें सैकड़ों वीर जवानों ने देश की सीमाओं की रक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए थे. इन जवानों में लखीसराय जिले के श्रृगांरपुर गांव के नीरज भी शामिल थे. शहीद नायक नीरज की पत्नी रूबी देवी कहती है कि आज भी उनकी याद के सहारे ही वो जीवन व्यतीत कर रही हैं. अपनी बेटी को पढ़ा रही हैं. उन्हें गर्व है कि उनके पति देश के लिए दुश्मनों से लड़ते वीरगति को प्राप्त हुए.

हालांकि शहीद नीरज की पत्नी रूबी देवी को जिला प्रशासन के तरफ से कारगिल विजय दिवस के मौके पर कोई भी कार्यक्रम का आयोजन नहीं करना बहुत खलता है.

(राकेश की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें -

तीन तलाक कानून समाज के मन में अविश्वास पैदा करता है-ललन सिंह
Loading...

NCVT के चक्कर में फंसे नीतीश के मंत्री,सदन में बिखरी मुस्कान
First published: July 26, 2019, 9:07 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...