नाबालिग गैंगरेप केस : एक आरोपी गिरफ्तार, प्रशासन ने पीड़िता को दी एक लाख रुपये की मदद

अस्पताल में भर्ती पीड़िता (etv pic.)
अस्पताल में भर्ती पीड़िता (etv pic.)

बिहार के लखीसराय में नाबालिग लड़की के साथ गैंग रेप के बाद आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है.

  • Share this:
बिहार के लखीसराय में नाबालिग लड़की के साथ गैंग रेप के बाद आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक लखीसराय पुलिस ने एक आरोपी संतोष को गिफ्तार कर उससे पूछताछ कर रही है. गिरफ्तार आरोपी नाबालिग है. इस केस में 2 को नामजद और 6 अज्ञात लोगों को आरोपी बनाया गया है.

उधर, लखीसराय के जिलाधिकारी सुनील कुमार ने सोमवार को पीड़िता को एक लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है. जिले के सीनियर पदाधिकारियों के साथ बैठक के बाद उन्होंने मदद की घोषणा की.



आपको बता दें कि लखीसराय में दिल्ली के निर्भया कांड की तर्ज पर रेप का मामला सामने आया है. नाबालिग से न केवल मनचलों ने गैंग रेप किया बल्कि रेप करने के बाद उसे चलती ट्रेन से फेंक दिया. पीड़िता फिलहाल पटना के पीएमसीएच अस्पताल में भर्ती है.
घटना लखीसराय के चानन थाना क्षेत्र के लाखोचक गांव की है. गुरुवार की देर रात ही मैट्रिक की एक छात्रा के साथ गांव के एक युवक द्वारा दुष्कर्म किया गया. दुष्कर्म के बाद युवक द्वारा अपने आधा दर्जन साथियों के साथ पीड़िता को वंशीपुर स्टेशन पर पहले तो एक ट्रेन में चढ़ाया गया फिर मौका पा कर उसे किऊल स्टेशन के पास चलती ट्रेन से फेंक दिया गया.

शुक्रवार की सुबह यात्रियों द्वारा पीड़िता को घायलावस्था में देखे जाने के बाद उसे उठाकर प्लेटफार्म पर रखा गया जहां उसे खोजते हुए उसके परिजनों पहुंचे.

पीड़िता ने बताया कि गुरुवार की रात वह अपने घर से शौच के लिए निकली थी उसी दौरान गांव के ही कामेश्वर यादव के पुत्र मृत्युंजय कुमार उर्फ भोथी ने उसे पकड़ लिया और हथियार के बल पर उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.

पीड़िता ने बताया कि 6 की संख्या में आरोपियों ने इस घटना को अंजाम दिया है. दुष्कर्म के बाद सभी ने किऊल स्टेशन के चलती ट्रेन से उसे फेंक दिया.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज