लखीसराय लूट कांड का हैरान करने वाला खुलासा, कर्ज में डूबे पिता ने बेटे के साथ मिलकर रची थी साजिश
Lakhisarai News in Hindi

लखीसराय लूट कांड का हैरान करने वाला खुलासा, कर्ज में डूबे पिता ने बेटे के साथ मिलकर रची थी साजिश
पुलिस ने वारदात का खुलासा करते हुए पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, कैश बरामद

पुलिस (Police) ने बताया कि पकड़ा गया शख्स विनोद कुमार कर्ज से परेशान था, इसलिए अपने शिक्षक बेटे के साथ मिलकर लूट (Robbery) की कहानी गढ़ी और व्यापारी के रुपयों का गबन कर लिया. पुलिस ने पकड़े गए आरोपी के बेटे की कोचिंग में छिपाए गए रुपये भी बरामद कर लिए हैं.

  • Share this:
राकेश कुमार

लखीसराय. जनपद पुलिस (Bihar Police) ने लूट (Robbery) एक मामले का बेहद चौंकाने वाला खुलासा करते हुए एक शख्स और उसके शिक्षक बेटे को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि कर्ज में डूबे इस शख्स ने बेटे के साथ मिलकर लूट की कहानी गढ़ी थी. पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए व्यापारी का कैश भी बरामद कर लिया.

एसआईटी ने किया खुलासा
बता दें कि जनपद में 11 अगस्त को शहर के दाल व्यवसाई संजीत कुमार ने उनके कर्मचारी विनोद कुमार के साथ 5 लाख 61 हजार की लूट की शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायतकर्ता ने बताया था कि शहर के विद्यापीठ चौक के पास हथियारों से लैस बाइक सवार बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया. दिनदहाड़े हुई इस लूट की वारदात की तहकीकात के लिए एसपी ने एसआईटी गठित की. एसआईटी ने मामले की जांच की तो हैरान करने वाला खुलासा सामने आया. साथ ही लूट के पैसे भी सुरक्षित बरामद कर लिए गए.
ये है पूरा मामला


11 अगस्त को शहर के दाल व्यवसायी संजीत कुमार अपने स्टाफ के कर्मचारी विनोद कुमार के साथ लूट की वारदात का मामला दर्ज करवाने नगर थाना पहुंचे. व्यवसायी ने बताया कि उनका मुंशी विनोद कुमार मुंगेर से तगादा के 5 लाख 61 हजार 425 रूपये वसूल कर लखीसराय लौट रहा था. लेकिन शहर के विद्यापीठ चौक के पास बाइक सवार हथियार से लैस अपराधियों ने पैसे लूट लिए. इस मामले में एसपी ने एसआईटी गठित की, जिसके बाद मामले में चौंकाने वाला खुलासा सामने आया. पुलिस बताया कि पकड़ा गया शख्स विनोद कुमार कर्ज से परेशान था. इसलिए अपने बेटे के साथ मिलकर लूट की साजिश को अंजाम दिया. एसडीपीओ रंजन कुमार ने बताया कि घटना के बाद नगर थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह और कबैया थानाध्यक्ष राजीव कुमार के नेतृत्व मे एक टीम का गठन किया गया. जिसके बाद तकनीकी सेल के द्वारा अनुसंधान किए जाने पर मामले का पटाक्षेप हो गया.

ये भी पढ़ें- JDU-MLA को आक्रोशित जनता ने फिर से बनाया बंधक, घंटों गुस्सा झेलने के बाद छूटे विधायक

घटना में व्यापारी के कर्मचारी विनोद कुमार और उसके शिक्षक पुत्र के द्वारा रूपये गबन करने के इरादे से लूट की कहानी गढ़ने की बात कबूल कर ली. वहीं एसआईटी की टीम ने पिता-पुत्र की निशानदेही पर शिक्षक पुत्र की कोचिंग से रुपये बरामद कर लिए. फिलहाल पुलिस ने पिता-पुत्र को गबन के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. एसडीपीओ रंजन कुमार ने कहा कि एसआईटी टीम मे शामिल सभी पुलिसकर्मियों को इस खुलासे के लिए पुरस्कृत किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज