लाइव टीवी

मिट्टी घोटाले को लालू ने बताया निराधार, मानहानि केस पर कहा- हम 'मुकदमे बाज' नहीं

Prem Ranjan | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: April 9, 2017, 7:59 PM IST
मिट्टी घोटाले को लालू ने बताया निराधार, मानहानि केस पर कहा- हम 'मुकदमे बाज' नहीं
पटना में मीडिया से बात करते राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद (ETV pic)

  • Share this:
मिट्टी घोटाले में घिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने रविवार को विपक्ष पर पलटवार किया. पटना में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उनके परिवार को बदनाम किया जा रहा है.  मिट्टी घोटाले की बात जब गलत साबित हो गई तो अब ये लोग मॉल पर आ गए और बच्चों और पत्नी को बदनाम करना शुरू कर दिया.

उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने 1999 में  IRCTC का गठन किया गया था और नियम के तहत रांची और पूरी रेल यात्री निवास कोचर बंधु को ओपन टेंडर के माध्यम से दिया गया था. हालांकि उन्होंने माना कि जमीन उनकी है और वहां मेरिडियन कंपनी मॉल बना रही है. उसमें आधा पार्टनर है.

लालू ने कहा कि 2014 तक डिलाइट के शेयर इनकम टैक्स के प्रावधान के तहत राबड़ी देवी ने खरीदा. उस समय वो किसी पद पर नहीं थी. राबड़ी देवी ने अपने बेटों को इसमें शेयर दी और इसकी जानकारी दोनों ने चुनाव से पहले हलफनामे में भी दी. उन्होंने कहा कि मॉल के कुछ शेयर तेज प्रताप और तेजस्वी यादव के पास है जिन्हें राबड़ी देवी ने गिफ्ट में कुछ शेयर दिया था.

राजद सुप्रीमो ने कहा कि मिट्टी को दानापुर और फुलवारी के कब्रिस्तान को दिया गया. जू में कोई मिट्टी नहीं दी गई. सुशील मोदी का आरोप निराधार है. सुशील मोदी का यह आरोप गलत है कि डिलाइट कंपनी फर्जी है.

उन्होंने कहा कि सुशील मोदी हार की पीड़ा से नहीं उबर पाए हैं. पार्टी में कोई नहीं पूछ रहा है. सुशील मोदी बीजेपी की राजनीति में लगातार साइड लाइन करने की वजह से परेशान हैं. बीजेपी आलाकमान की नजर में आना चाहते हैं इसलिए लालू परिवार पर हमला बोल अपनी राजनीति चमकाना चाहते हैं.

सुशील मोदी ये आरोप लगा रहे है कि लालू परिवार को फायदा दिलाने के लिए डिलाइट कंपनी बनाया गया था.  यह सरासर गलत है.

सुशील मोदी पर मुकदमा करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम मुकदमे बाज नहीं है. इस सवाल पर कि आप गरीब के नेता हैं तो फिर मॉल का निर्माण क्यों? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि हर आदमी चाहता है कि परिवार के लिए कुछ करें. हम ऐसा कर रहे हैं तो क्या गलत है?उन्होंने कहा कि जो लोग घोटालेबाज हैं. वहीं घोटाले का आरोप लगा रहे हैं. साजिश के तहत  मेरे जैसे नेताओं को देशभर में बदनाम करने की कोशिश की जा रही है.

लालू प्रसाद ने कहा कि  9 साल पुराने घिसे पिटे मामले को उठाकर मोदी अपना भद्द पिटवा रहे हैं. 2008 में भी कुछ नेताओं ने इस  मामले को लेकर आरोप  लगाया था.  तब उन्हें मुंह की खानी पड़ी थी. (जदयू नेता ललन सिंह ने आरोप लगाया था)

उधर, प्रेस कांफ्रेस में राजद के राज्यसभा सांसद प्रेम गुप्ता ने कहा कि डिलाइट कम्पनी को लेकर कुछ मुश्किलें आयी थी. कम्पनी के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर के फैसले के बाद लालू के परिवार को ट्रांसफर किया गया. हमने अपने शेयर राबड़ी देवी, तेजस्वी और तेजप्रताप को शेयर दिए.

गौरतलब है कि सूबे के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने प्रेस वार्ता कर मॉल निर्माण को लेकर लालू समेत उनके दोनों बेटों पर निशाना साधा था. सुशील मोदी ने कहा है कि कि बिहार के इस सबसे बड़े मॉल का निर्माण आरजेडी विधायक अबू दोजाना करा रहे हैं और बिना टेंडर किये हुए मॉल की मिटटी पटना के जू को बेच दी गई है.

मोदी ने कहा कि डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड नाम से कंपनी चलाई जा रही है जिसमें 2014 से तीन लोग डायरेक्टर हैं. इनमें चन्दा यादव, तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव शामिल हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2017, 2:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर