Bihar Election News: JDU के निरंजन मेहता से हारीं शरद यादव की बेटी सुभाषिनी यादव

शरद यादव की बेटी सुभाषिनी यादव चुनाव हार गई हैं
शरद यादव की बेटी सुभाषिनी यादव चुनाव हार गई हैं

बिहार (Bihar) की चर्चित नेत्री व मधेपुरा जिले के बिहारीगंज सीट से कांग्रेस प्रत्याशी सुभाषिनी यादव (Subhashini Yadav) को राजनीति विरासत में मिली थी. लेकिन वे इस विरासत को आगे नहीं बढ़ा सकीं और उन्हें हार झेलनी पड़ी.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के लिए बिहारीगंज सीट पर मतगणना पूरी हो चुकी है. बिहार (Bihar) की चर्चित नेत्री व मधेपुरा जिले के बिहारीगंज सीट से कांग्रेस प्रत्याशी सुभाषिनी यादव (Subhashini Yadav) इस सीट से हार गई हैं. उन्हें राजनीति विरासत में मिली थी. वे लगातार अच्छे-खासे अंतर से JDU के निरंजन कुमार मेहता से पीछे थीं. सुभाषिनी के पिता शरद यादव (Sharad Yadav) देश के चर्चित नेताओं में से एक हैं. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Election 2020) में सुभाषिनी के साथ ही शरद यादव यादव की साख भी दांव पर लगी है. सुभाषिनी नेत्री होने के साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं. चुनाव के दौरान सुभाषिनी यादव ने कहा कि वह बिहार में महागठबंधन की लड़ाई को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी ले रही हैं, क्योंकि उनके पिता शरद यादव ने हमेशा इसका समर्थन किया है.

बिहार विधानसभा चुनाव 2015 में राजद उम्मीदवार चंद्रशेखर ने मधेपुरा निर्वाचन क्षेत्र सीट से भाजपा प्रत्याशी विजय कुमार 'बिमल' के खिलाफ 90974 वोट हासिल करके 20.5% के अंतर से जीत हासिल की थी. इस बार सुभाषिनी कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ीं. सामाजिक कार्यकर्ता सुभाषिनी यादव ने कहा कि वह बिहार में 'महागठबंधन' की लड़ाई को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी ले रही हैं.

बिहार चुनाव की पल-पल की अपडेट के लिए यहां क्लिक करें



जताया इन नेताओं का आभार
बिहार चुनाव 2020 में प्रचार के दौरान सुभाषिनी ने कहा कि 'मुझे यह मौका देने के लिए मैं सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को धन्यवाद देती हूं. शरद यादव बिहार चुनाव में सक्रिय रूप से हिस्सा नहीं ले रहे हैं, क्योंकि वह ठीक नहीं हैं. उन्होंने हमेशा 'महागठबंधन' का समर्थन किया है. यह मेरी जिम्मेदारी है. इस लड़ाई को आगे बढ़ाएं और बिहार को और ऊंचाइयों तक ले जाएं'.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज