केस खत्म करने के लिए दारोगा परिवार से मांग रहा- लड़की और पैसा... जानें पूरा मामला

केस में मदद करने के नाम पर दारोगा गोपेंद्र सिंह की डिमांड बढ़ती चली गई. एक लाख रूपया, एक पिस्टल, एक लूटी बाइक और टाइम पास करने के लिए लड़की.

News18 Bihar
Updated: September 1, 2019, 12:03 PM IST
केस खत्म करने के लिए दारोगा परिवार से मांग रहा- लड़की और पैसा... जानें पूरा मामला
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18 Bihar
Updated: September 1, 2019, 12:03 PM IST
बिहार में मधेपुरा जिला से एक ऐसा सनसनीखेज मामला सामने आया है जो सुशासन के तमाम दावों को धता बताते हुए सरकार और पुलिस महकमें की पोल खोलता है. यहां के चौसा थाना में तैनात एक दारोगा जी को लड़की, लूट की बाइक और पैसे भी चाहिए. नहीं दी गई तो एक परिवार पर 10 महीने में 5 केस ठोक दिए. अब यह पीड़ित परिवार न्याय की गुहार लगा रहा है.



दरअसल चौसा थाना क्षेत्र के कलासन निवासी योगेन्द्र साह बीते 10 महीने से परेशान हैं. उनका आरोप है कि भूमि विवाद के एक मामला लेकर वह थाना क्या गए पुलिस तो मानो उनके पीछे ही पड़ गई. केस में मदद करने के नाम पर दारोगा गोपेंद्र सिंह की डिमांड बढ़ती चली गई. वो उनसे एक लाख रूपया, एक पिस्टल, एक लूटी बाइक और टाइम पास के लिए लड़की मांग रहा है.

SI of Cousa Thana
चौसा थाने के दारोगा गोपेंद्र कुमार सिंह पर परिवार ने लगाए हैं गंभीर आरोप.


आरोप है कि दरोगा साहब की जब मांग पूरी नहीं हुई तो 6 महीने बाद से परिवार की उल्टी गिनती शुरू हो गई. अप्रैल से जून महीने के बीच परिवार पर 4 केस दर्ज करवा दिए गए. यह भी आरोप है कि केस में परिवार के सभी सदस्यों को फंसा दिया. एक 13 साल के नाबालिग बेटे को तो 19 वर्ष का बता कर केस में नाम दे दिया और उसे जेल भेज दिया. अब पूरा परिवार परेशान है और पुलिस के डर से और खुद के बचाव के सब इधर-उधर भाग रहा है.

madhepura
दारोगा गोपेंद्र कुमार सिंह पर आरोप लगाने वाला पीड़ित योगेंद्र साह और उनका बेटा


बताया जा रहा है कि योगेन्द्र साह से अपनी मांग पूरी करवाने के लिए दारोगा जी ने गांव के ही चन्द्रभूषण यादव नाम के एक व्यक्ति को सेट किया. लेकिन,  वो भी उसकी तीन मांग को पूरी नहीं करवा सके. फिर क्या था दरोगा जी कि नज़र चंद्रभूषण पर भी टेढ़ी हो गई.
Loading...

इस संबंध में जब मीडियाकर्मियों ने एसपी से बात करनी चाही तो उन्होंने ऑफ द रिकॉर्ड मीडियावालों पर ही एफआईआर की धमकी दे डाली. खबर प्रकशित करने वाले एक अख़बार के संवाददाता को एक साथ 3 नोटिस थमा दिया गया.

वहीं, मामले के सामने आने के बाद मधेपुरा से पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कहा कि बिहार के मां- बाप अपनी बेटी, बहन को बचा लें यही काफी है. उन्होंने ऐसे दारोगा के जल्द गिरफ्तारी की मांग की है. हालांकि न्यूज़ 18 इस ऑडियो क्लिप की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है. लेकिन एक बार जब ऐसे इस तरह के गंभीर मामलों में पुलिस के आलाधिकारियों को त्वरित संज्ञान लेना चाहिए.

(रिपोर्ट- तुरबसु)

ये भी पढ़ें-


क्या CM नीतीश के निशाने पर है लालू से जुड़ी निशानियां?




ठेकेदार हत्याकांड: रिश्वत की मांग करते हुए कार्यपालक अभियंता का वीडियो वायरल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मधेपुरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 2:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...