Home /News /bihar /

मदद की गुहार लगाने थाने पहुंची थी महिला, थानेदार ने रख दी शर्त- पहले साथ में रात गुजारो

मदद की गुहार लगाने थाने पहुंची थी महिला, थानेदार ने रख दी शर्त- पहले साथ में रात गुजारो

पटना के बड़े स्कूल में हुई घटना की जांच फिलहाल पुलिस कर रही है
(डेमो पिक)

पटना के बड़े स्कूल में हुई घटना की जांच फिलहाल पुलिस कर रही है (डेमो पिक)

पूरा मामला बिहार के मधेपुरा से जुड़ा है. इस आरोप को लेकर उसने मीडिया को कुछ ऑडियो उपलब्ध कराए हैं. जिस महिला से मात्र दो महीनों में 30 से ज्यादा बार थानेदार ने मोबाइल पर बात किया

    मधेपुरा. बिहार में पुलिस (Police) की रंगीन मिजाजी का मामला सामने आया है. घटना मधेपुरा (Madhepura) की है, जहां एक दारोगा (Sub-Inspector) ने पुलिसिया कार्रवाई के बदले एक महिला के सामने ऐसी शर्त रखी, जिसने उसे मीडिया से गुहार लगाने को मजबूर कर दिया. मधेपुरा के इसी थाने में बीते दिनों एक दारोगा का केस में मदद करने के नाम पर टाइम पास करने के लिए महिला की मांग का ऑडियो वायरल (Viral Audio) हुआ था. खबर चलने के बाद दारोगाजी लाइन हाजिर हुए थे.

    30 बार की गंदी बात
    अब उसी चौसा थाने के थानेदार की रंगीन मिजाजी सामने आई है. थानेदार धनेश्वर मंडल एक महिला को केस में मदद करने के नाम पर उसके साथ रात गुजारने की मांग कर दी. अपने आरोपों को सही साबित करने के लिए महिला ने शपथ पत्र बनवाकर मीडिया को थानेदार से बातचीत का ऑडियो उपलब्ध कराया है. करीब 120 मिनट के ऑडियो में दारोगा द्वारा 30 बार की गईं गन्दी बातें रिकॉर्ड हैं.

    पति को छोड़ किया था प्रेम विवाह
    चौसा थाना क्षेत्र की पीड़ित महिला पहले से विवाहित थी. वो अपने पति के साथ चौसा बाजार में छोटा-मोटा होटल चलाती थी. इसी दौरान होटल के सामने एक कम्प्यूटर शिक्षण केंद्र चलाने वाले मो. मोजिम से उसे प्यार हो हो गया. कुछ दिन बाद उसने मोजिम के साथ शादी कर ली और साथ रहने लगी. करीब तीन साल बाद महिला को मजिम ने छोड़ दिया. प्यार में पति को छोड़ने के तीन साल बाद दूसरे पति ने भी महिला को घर से भगा दिया था. करीब तीन महीने पहले महिला ने चौसा थाना पहुंच कर मो. मोजिम के खिलाफ आवेदन दिया.

    मधेपुरा न्यूज, चौसा थानाध्यक्ष
    मधेपुरा के चौसा थाने का आरोपी थानेदार धनेश्वर मंडल


    एक हुआ सस्पेंड तो दूजे ने की कोशिश
    महिला की माने तो तत्कालीन थानाध्यक्ष राजकिशोर मंडल ने आवेदन पर कोई कार्रवाई नहीं की. कई दिनों तक पीड़िता ने थाने के चक्कर भी लगाए लेकिन पुलिस उसे आश्वासन देती रही. इसी बीच एक मामले में राजकिशोर मंडल सस्पेंड हो गया और धनेश्वर मंडल थानाध्यक्ष बन गए. महिला का आरोप है कि धनेश्वर मंडल ने एफआईआर दर्ज करने और आरोपी की गिरफ़्तारी के लिए उसके साथ महीनों से गन्दी बात की और उसे अपने पास गलत नियत से बुलाया.

    आरोपों से मुकरे थानेदार
    आरोपों को लेकर पीड़ित महिला ने मीडिया को कुछ ऑडियो उपलब्ध कराए हैं. जिस महिला से मात्र दो महीनों में 30 से ज्यादा बार थानेदार ने मोबाइल पर बात की, उसी ने महिला को पहचानने तक से किया इनकार कर दिया. ऑडियो वायरल होने के बाद से पुलिस के वरीय अधिकारी कैमरे पर आने से कतरा रहे हैं. लेकिन मोबाइल पर हो रही बातचीत में थानेदार के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कर रहे हैं.

    रिपोर्ट- तुरबसु शचिंद्र

    ये भी पढ़ें- 'MLA अनंत सिंह के करीबी को गोली मारने के बाद अपराधी को मिली थी पुलिस सुरक्षा'

    ये भी पढ़ें- बिना हेलमेट घूम रहे दारोगा को युवक ने धमकाया फिर SP ने किया सस्‍पेंड

    Tags: Bihar News, Madhepura news, PATNA NEWS

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर