मंडप में पहुंचे दूल्हे को मंदबुद्धि बताकर दुल्हन के परिवार ने नकारा, दो दिन तक बंधक बने रहे बाराती
Madhubani News in Hindi

मंडप में पहुंचे दूल्हे को मंदबुद्धि बताकर दुल्हन के परिवार ने नकारा, दो दिन तक बंधक बने रहे बाराती
मधुबनी में दूल्हा समेत बंधक बने बाराती

मधुबनी में हुई इस घटना में शादी (Marriage) के लिए जब दूल्हा और उनके परिजन मंडप पर पहुंचे तो लड़की पक्ष की महिलाओं ने दूल्हे को मंदबुद्धि बताते हुए नापसंद कर दिया.

  • Share this:
मधुबनी. बारात पहुंची और स्वागत सत्कार के बाद पूरे विधि-विधान से वरमाला भी हुआ. शादी के लिए जब मंडप में दूल्हा पहुंचा तो कुछ ऐसा हुआ कि लड़की पक्ष ने दूल्हे को नापसंद करते हुए शादी से इनकार कर दिया. साथ ही विरोध करने पर दूल्हा समेत 7 बारातियों को बंधक बना लिया. मामला पुलिस तक पहुंचा तो वो भी बाराती को छुड़ाने पहुंची, लेकिन कुछ लोगों ने पथराव कर दिया जिसमें एक महिला सिपाही जख्मी हो गई.

हाई वोल्टेज ड्रामा वाली ये घटना मधुबनी के बेनीपट्टी थाना इलाके में स्थित सोहरौल गांव की है. बताया जा रहा है कि बीते 29 जून को बेनीपट्टी प्रखंड के चतरा गांव निवासी जय प्रकाश साह की शादी सोहरैल गांव निवासी शिवचंद्र साह की पुत्री से होनी थी. लड़का पक्ष करीब 40 बारातियों के साथ सोहरौल गांव पहुंचा. स्वागत सत्कार के बाद वरमाला हुआ, फिर बारातियों को पूरे आवभगत के साथ नाश्ता भी कराया गया. लेकिन, शादी के लिए जब दूल्हा और उनके परिजन मंडप पर पहुंचे तो लड़की पक्ष की महिलाओं ने दूल्हे को मंदबुद्धि बताते हुए नापसंद कर दिया और शादी से इनकार कर दिया.

ढाई लाख रुपए का हर्जाना मांग रहा था कन्या पक्ष
बारातियों ने जब विरोध जताया तो लड़का और लड़की पक्ष में जमकर विवाद हो गया. बताया जा रहा है कि लड़की पक्ष ने अभी तक के इंतजामों पर खर्च हुए करीब ढाई लाख रुपये लड़का पक्ष को चुकाने को कहा. इसी बीच, दोनों पक्ष में विवाद बढ़ जाने पर कुछ बाराती तो मौके से भागने में कामयाब रहे, लेकिन दूल्हा समेत 7 बारातियों को लड़की पक्ष के लोगों ने बंधक बना लिया. आखिरकार 2 दिन बाद लड़का पक्ष से मिली सूचना पर बेनीपट्टी थाने की पुलिस टीम बंधक बने दूल्हा और बारातियों को छुड़ाने के लिए सोहरौल गांव पहुंची. पुलिस को देखते ही कुछ लोगों ने पथराव कर दिया, जिसमें सिम्पटी कुमारी नामक एक महिला सिपाही जख्मी हो गई.
लड़की पक्ष पर दो अलग-अलग केस दर्ज


पुलिस की टीम ने लोगों को समझा बुझाकर मामले को शांत कराया और बंधक बने बाराती और दूल्हे को मुक्त कराकर उनके गांव भेज दिया है. बेनीपट्टी थाना प्रभारी महेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि दूल्हा के भाई ओमप्रकाश साह ने इस मामले में आवेदन दिया था, जिसके बाद पुलिस की टीम बंधक बने बाराती और दूल्हे को छुड़ाने के लिए सोहरौल गांव पहुंची थी. लेकिन, कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव किया था. लिहाजा सरकारी कार्य में बाधा उत्पन करने व पुलिस पर हमला के आरोप में केस दर्ज करने के साथ ही कुछ लोगों को बंधक बनाने के आरोप में भी लड़की पक्ष पर केस दर्ज किया गया है. फिलहाल पूरे मामले की जांच चल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading