बाढ़ त्रासदी: जल प्रलय में फंसे एक ही गांव के 50 लोग, छत पर जगह लेकर बचा रहे जान

मौके पर ndrf की टीम मौजूद है. सभी लोगों को बचाने और सुरक्षित जगहों पर ले जाने के लिए मोटर बोट के जरिए मदद ली जा रही है.

News18 Bihar
Updated: July 14, 2019, 4:54 PM IST
News18 Bihar
Updated: July 14, 2019, 4:54 PM IST
बिहार में बाढ़ का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. बाढ़ ने सूबे के सात जिलों को अपनी चपेट में लिया है लेकिन कुछ जिलो में स्थिति कहीं ज्यादा भयावह है. मधुबनी में बाढ़ से एक गांव के करीब पचाल लोग अभी भी फंसे हैं. मामला नरुआर गांव का है जहां एक छत पर पचास से अधिक ग्रामीण फंसे हैं और अपनी सलामती की दुआ कर रहे हैं.

मौके पर पहुंची एनडीआरएफ की टीम


बाढ़ में फंसे 50 ग्रामीणों को बचाने के लिए मौके पर एनडीआरएफ की टीम मौजूद है. सभी लोगों को बचाने और सुरक्षित जगहों पर ले जाने के लिए मोटर बोट के जरिए मदद ली जा रही है. पानी के तेज बहाव के कारण लोगों को निकालने की लगातार कोशिश हो रही है. जानकारी के मुताबिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का काम एक ही बोट से हो रहा है जिससे इसमें देरी हो रही है.

एनएच जाम

राहत कार्य में देरी होने से ग्रामीणों में आक्रोश है और गुस्साए ग्रामीणों ने NH-57 को जाम कर दिया है. बाढ़ से घिरे गांव के लोगों का एक वीडियो सामने आया है जिसमें सभी एक छत पर आसरा लेकर सलामती की दुआ कर रहे हैं. पीड़ितों में पुरूष, महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं.

बाढ़ को लेकर समीक्षा करते सीएम नीतीश कुमार


सीएम करेंगे एरियल सर्वे
Loading...

इससे पहले बिहार में जारी बाढ़ के कहर के बीच सरकार हाई अलर्ट मोड में है. रविवार को सीएम नीतीश कुमार बिहार के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे करेंगे. इससे पहले उन्होंने उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की है. नीतीश कुमार ने पटना के एक अणे मार्ग स्थित आवास में ये बैठक की. इस बैठक में जल संसाधन मंत्री संजय झा सहित विभाग के कई आलाधिकारी भी मौजूद थे. जानकारी के मुताबिक इस बैठक में सीएम ने बाढ़ की समीक्षा करने के साथ ही विभागीय मंत्री समेत अधिकारियों को कई ज़रूरी दिशा निर्देश दिया.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...