जयनगर-जनकपुर के बीच जल्‍द दौड़ेगी ट्रेन, इंडो-नेपाल रेल प्रोजेक्‍ट का काम लगभग पूरा, ट्रायल रन शुरू

भारत-नेपाल रेल परियोजना के निरीक्षण के लिए खड़ी ट्रेन

Jainagar-Janakpur Train Service: मधुबनी में हुए ट्रायल रन के दौरान समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम अशोक माहेश्वरी भी जयनगर रेलवे स्टेशन पर मौजूद थे. डीआरएम ने कहा कि जल्द ही इस रूट पर रेल सेवा शुरू हो जाएगी.

  • Share this:
मधुबनी. भारत सरकार की महत्वाकांक्षी इंडो-नेपाल रेल परियोजना (India-Nepal Train Project) का काम लगभग पूरा हो चुका है. जल्द ही मधुबनी जिले के जयनगर रेलवे स्टेशन (Jainagar Railway Station) से जनकपुर-कुर्था के बीच रेलगाड़ी दौड़ने वाली है. जयनगर-जनकपुर रेल लाइन पर ट्रायल भी शुरू हो गया है. जनकपुरधाम के खूबसूरत नजारे को करीब से निहारना अब आसान हो जाएगा. वहीं, पूजा-अर्चना के लिए जनकपुर के जानकी मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की परेशानी भी जल्द ही दूर होने वाली है.

दरअसल, मधुबनी जिले में नेपाल बॉर्डर से सटे जयनगर और नेपाल के जनकपुर-कुर्था के बीच 34 किलोमीटर लंबी रेल लाइन का काम पूरा हो चुका है. साथ ही रेलवे स्टेशन भी यात्रियों के स्वागत के लिए बन संवर कर तैयार है. रविवार को जयनगर-जनकपुर रेल लाइन पर ट्रायल भी शुरू हो गया. इस खास अवसर पर समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम अशोक माहेश्वरी भी जयनगर रेलवे स्टेशन पर मौजूद रहे. डीआरएम की मानें तो रेल लाइन पर ट्रायल का काम पूरा होने के बाद जल्द ही इस रूट पर रेल सेवा शुरू हो जाएगी.

जनकपुरधाम माता सीता की जन्मभूमि होने के चलते न सिर्फ हिन्दुओं का प्रमुख धार्मिक स्थल है, बल्कि पर्यटन स्थल के रूप में भी अपनी पहचान रखता है. जयनगर-जनकपुर के बीच रेल का परिचालन शुरू होने से इस इलाके में श्रद्धालुओं और सैलानियों की आवाजाही बढ़ेगी. इससे अर्थव्यवस्था तो मजबूत होगी ही साथ में कला और संस्कृति की समृद्ध विरासत को भी नई पहचान मिलेगी. शायद यही वजह है कि यहां के लोग इस रूट पर रेलगाड़ी की आवाज सुनने को बेताब हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.