हुनर और कला के बलबूते शुरू किया मधुबनी पेंटिंग, बाजार में इसकी डिमांड बढ़ी

बिहार के मधुबनी में इन दिनों मधुबनी पेंटिंग काफी चर्चा में हैं.

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 23, 2017, 9:27 PM IST
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 23, 2017, 9:27 PM IST
बिहार के मधुबनी में इन दिनों मधुबनी पेंटिंग काफी चर्चा में हैं. कहते है प्रतिभाशाली शख्स खुद को कभी भूखा नहीं रख सकता है. वैसे ही स्टेट अवार्डी शिल्पकार रेमंत कुमार मिश्र ने अपनी कला को रोजगार में बदल दिया है. रेमंत कुमार का परिवार अपनी अलग-अलग पेंटिंग से लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं.

क्राफ्ट विलेज जितवारपुर के रहने वाले रेमंत कुमार मिश्रा और उनकी पत्नी उषा मिश्रा ने चाय की केतली पर मिथिला पेंटिंग को अलग-अलग थीम पर बनाया है. जिसकी बाजार में कीमत लाखों रुपए की है. दंपत्ति तीन साल से केतली पर पेंटिंग बना रहे हैं. इन पेंटिंग को दिल्ली, पुणे, हैदराबाद, मुंबई, चेन्नई आदि कई शहरों में प्रदर्शित किया जा रहा है. जिसकी काफी डिमांड की जा रही है.

अब तक करीब 300 से ज्यादा मधुबनी पेंटिंग की केतली को बेचा गया है. रेमंत कुमार मिश्रा का कहना है कि, एक सामान्य केतली पर पेटिंग तैयार करने में लगभग 250 रुपए खर्च करने पड़ते हैं और इसे तीन दिन में बनाया जाता है. बाजार में इसकी कीमत 15,00 होती है. चाय की केतली पर अब तक पर्यावरण, फिश फैमिली, गाय-बछिया का प्रेम, कृष्णलीली, झिझिया, इंडियन नेशन आदि दर्जनों थीम पर बनाई गई है. कभी-कभी ग्राहक की अपनी अलग थीम भी होती है, जिसे हम बनाते हैं

इसके अलावा  रेमंत कुमार मिश्रा ने चहारदिवारियों पर भी अलग-अलग पेंटिंग बनाई है. जिसमे रामायण, महाभारत, राजा सल्हेश, सामा-चकेबा आदि थीम पर उकेरी गया है.
First published: December 23, 2017, 9:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...