Home /News /bihar /

धान खरीद मामले में प्रबंधक पर भ्रष्टाचार का आरोप

धान खरीद मामले में प्रबंधक पर भ्रष्टाचार का आरोप

मधुबनी में धान खरीद का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. एसएफसी और पैक्स की मनमानी और व्याप्त भष्ट्राचार के कारण किसानों का हजारों क्विंटल धान सड़ रहा है. इसी को लेकर दर्जन भर किसान बीते 27 मार्च से अपनी 15 सूत्री मांगो को लेकर मधुबनी के लौकही प्रखंड कार्यालय परिसर में अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे हैं.

मधुबनी में धान खरीद का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. एसएफसी और पैक्स की मनमानी और व्याप्त भष्ट्राचार के कारण किसानों का हजारों क्विंटल धान सड़ रहा है. इसी को लेकर दर्जन भर किसान बीते 27 मार्च से अपनी 15 सूत्री मांगो को लेकर मधुबनी के लौकही प्रखंड कार्यालय परिसर में अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे हैं.

मधुबनी में धान खरीद का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. एसएफसी और पैक्स की मनमानी और व्याप्त भष्ट्राचार के कारण किसानों का हजारों क्विंटल धान सड़ रहा है. इसी को लेकर दर्जन भर किसान बीते 27 मार्च से अपनी 15 सूत्री मांगो को लेकर मधुबनी के लौकही प्रखंड कार्यालय परिसर में अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे हैं.

अधिक पढ़ें ...
मधुबनी में धान खरीद का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. एसएफसी और पैक्स की मनमानी और व्याप्त भष्ट्राचार के कारण किसानों का हजारों क्विंटल धान सड़ रहा है. इसी को लेकर दर्जन भर किसान बीते 27 मार्च से अपनी 15 सूत्री मांगो को लेकर मधुबनी के लौकही प्रखंड कार्यालय परिसर में अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे हैं.

जिला कांग्रेस कमिटी के पूर्व उपाध्यक्ष राम प्रसाद यादव के नेतृत्व में अनशन पर बैठे किसान एसएफसी के प्रबंधक हरदेव सिंह की कार्यशैली से खासे आक्रोशित हैं। किसानों ने मंगलवार को प्रबंधक पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि इनके द्वारा धान क्रय केन्द्र पर धान मंगाया गया, लेकिन इसे खरीदने से इंकार किया जा रहा है. वही धान मंगवाने के बाद प्रबंधक कार्यालय से फरार हो गए हैं और दलालों के माध्यम से गुपचुप तरीके से रिश्‍वत लेकर खास लोगों का धान खरीद रहे हैं.

आलम यह है कि हजारों क्विंटल धान खुले आसमां के नीचे पड़ा रहा है जो बारिश होने से सड़ने के कगार पर है. इस संबंध मे आलाधिकारियों को सुचित किए जाने के बाबजूद कोई पहल नहीं किया गया, जिसके बाद इन किसानों ने अनशन पर बैठने का फैसला लिया है.

पिछले चार दिन से इनका अनशन जारी है. कई किसानों की हालत बिगड़ चुकी है, लेकिन इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है. छह दिन से अनशन पर किसान बैठे हैं जिनकी स्थिति लगातार बिगड़ रही है, लेकिन अधिकारियों को हाल जानने तक की फुर्सत नहीं है.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर