मधुबनी में कांग्रेस नेता के बेटे की सरेआम गोली मारकर हत्या
Madhubani News in Hindi

मधुबनी में कांग्रेस नेता के बेटे की सरेआम गोली मारकर हत्या
मधुबनी में कांग्रेस नेता के पुत्र की हत्या के बाद मामले की जांच को पहुंची पुलिस

हत्या (Murder) की इस घटना के बाद हरकत में आई बेनीपट्टी पुलिस फरार बदमाशों की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी में जुटी है.

  • Share this:
मधुबनी. बिहार के मधुबनी (Madhubani) में अज्ञात बदमाशों ने करीब 46 वर्षीय शख्स की गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी. मृतक की शिनाख्त कांग्रेस नेता (Congress Leader) शिवचंद्र झा के पुत्र सुशांत उर्फ बिट्टू झा के रूप में हुई है. मिली जानकारी के मुताबिक रुपए के लेन-देन को लेकर बिट्टू झा का कुछ विवाद था. मृतक बिट्टू कांग्रेस के मधवापुर प्रखंड अध्यक्ष शिवचंद्र झा के पुत्र थे. बताया जा रहा है कि गुरुवार देर रात बेनीपट्टी थाना क्षेत्र स्थित लोरिका बाबा चौक पर अज्ञात बदमाशों ने राकेश झा को घेरकर मारपीट की फिर सीने में गोली मारकर सभी बदमाश मौके से फरार हो गए.

इलाज के दौरान हुई मौत

वारदात की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस और स्थानीय लोगों द्वारा बिट्टू झा को बेनीपट्टी पीएचसी लाया गया, लेकिन उसकी गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने उसे मधुबनी सदर अस्पताल रेफर कर दिया, जहां इलाज के दौरान बिट्टू झा की मौत हो गई. हत्या की इस सनसनीखेज वारदात के बाद से बेनीपट्टी अनुमंडल में दहशत का माहौल है. घटना के बाद हरकत में आई बेनीपट्टी पुलिस फरार बदमाशों की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी में जुटी है. एसडीपीओ का कहना है बदमाशों के संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है, उम्मीद है जल्द ही सभी आरोपी शिकंजे में होंगे. हालांकि, पुलिस को फिलहाल कोई सुराग नहीं मिल पाया है.



रुपए के लेन-देन का था विवाद
बताया जा रहा है कि सुशांत कुमार उर्फ बिट्टू का कुछ लोगों के साथ रुपए के लेन-देन को लेकर विवाद था, ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि रुपए के विवाद को लेकर ही गुरुवार रात बदमाशों ने कांग्रेस नेता के बेटे को गोली मारी. स्थानीय लोगों के मुताबिक राकेश कुमार झा की हत्या के पीछे तस्कर गिरोह का हाथ होने से भी इनकार नहीं किया जा सकता, क्योंकि साहरघाट और मधवापुर का इलाका नेपाल बॉर्डर पर स्थित होने के कारण इस क्षेत्र में सीमा पार से तस्करी का कारोबार करने वाले लोगों की आवाजाही भी दबे-छिपे होती रहती है. बताया जा रहा है कि राकेश की तत्परता के चलते इन लोगों को कई बार आर्थिक नुक़सान का सामना करना पड़ता था.

ये भी पढ़ें- बॉर्डर पर नेपाल पुलिस की अंधाधुंध फायरिंग, 4 भारतीयों को लगी गोली, 1 की मौत

ये भी पढ़ें- लाखों छात्रों के लिए बड़ी खबर! बिहार में फिलहाल नहीं खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, शिक्षा मंत्री ने कही यह बात
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading