Assembly Banner 2021

Bihar News: मुखिया से रिश्वत में 55 हजार रुपए ले रहा था मनरेगा का इंजीनियर, विजिलेंस ने धर दबोचा

बिहार के मधुबनी से घूसखोर जेई गिरफ्तार

बिहार के मधुबनी से घूसखोर जेई गिरफ्तार

Madhubani News: बिहार के मधुबनी में की गई इस कार्रवाई के लिए विजिलेंस की टीम ने मुखिया को 55 हजार रुपए की राशि देकर भेजा था. जैसे ही मुखिया से जेई ने पैसे लिए विजिलेंस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

  • Share this:
मधुबनी. बिहार के मधुबनी में मनरेगा के रिश्वतखोर जूनियर इंजीनियर दिनेश कांत ठाकुर को निगरानी विभाग की टीम ने 55 हजार रुपये बतौर घूस लेते हुए रंगे हाथों धर दबोचा. निगरानी विभाग के हत्थे चढ़ा मनरेगा जेई पंडौल प्रखंड में पदस्थ हैजानकारी के मुताबिक जेई दिनेश कांत ठाकुर मंगलवार शाम करीब साढ़े 4 बजे मधुबनी टाउन थाना इलाके के कोतवाली चौक स्थित अपने आवास पर पंडौल प्रखंड के एक मुखिया से 55 हजार रुपये घूस ले रहे थे, उसी वक्त पटना से आई निगरानी की टीम ने उनको रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

बताया जा रहा है कि पंडौल प्रखंड के सरिसब पाही पश्चिमी पंचायत के मुखिया राम बहादुर चौधरी ने जेई के खिलाफ रिश्वत मांगने की शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद पटना से आई निगरानी विभाग की टीम ने जाल बिछाते हुए घूसखोर जेई को घूस लेते हुए गिरफ्तार कर लिया. निगरानी विभाग के डीएसपी अरुण पासवान के मुताबिक जेई दिनेशकांत ठाकुर पंडौल प्रखंड के सरिसब पाही पश्चिमी पंचायत के मुखिया राम बहादुर चौधरी से पिछले काफी समय से रिश्वत की मांग कर रहा था.

मुखिया ने इसकी सूचना निगरानी विभाग को दी, जिसके बाद निगरानी विभाग की टीम ने मधुबनी पहुंचकर योजनाबद्ध तरीके से जेई को धर दबोचा. मुखिया राम बहादुर चौधरी का कहना है कि घूस नहीं देने के चलते जेई उनके पंचायत का काम काफी समय से नहीं कर रहा था, आखिरकार उन्हें निगरानी में शिकायत करनी पड़ी.



बताया जा रहा है कि निगरानी विभाग की टीम ने रिश्वत देने के लिए मुखिया रामबहादुर चौधरी को 55 हजार रुपये देकर जूनियर इंजीनियर द्वारा बताए गए लोकेशन पर भेजा था. जैसे ही मुखिया ने जेई को बतौर रिश्वत 55 हजार रुपये दिए उसी वक्त निगरानी की टीम मौके पर पहुंची और घूस के रुपये के साथ जेई को गिरफ्तार कर पटना रवाना हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज