Home /News /bihar /

कानपुर ट्रेन हादसा : आरोपियों से 4 घंटे तक पूछताछ, खुल सकते हैं कई अहम राज

कानपुर ट्रेन हादसा : आरोपियों से 4 घंटे तक पूछताछ, खुल सकते हैं कई अहम राज

etv pic.

etv pic.

कानपुर ट्रेन हादसे में पूर्वी चंपारण पुलिस के खुलासे के बाद खुफिया एजेंंसियों के अधिकारियों ने  तीनों आरोपियों मोती पासवान, मुकेश यादव और उमाशंकर प्रसाद से गहन पूछताछ की. करीब चार घंटे तक चली  पूछताछ के बाद उन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच घोड़ासहन ले जाया गया है जहां ट्रैक पर बम रखे गए थे.

सूत्रों के अनुसार पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं. अधिकारियों ने तीनों आरोपियों से कई तरह से सवाल पूछे. हालांकि अधिकारी  फिलहाल कुछ भी बताने से मना कर रहे हैं.

बिहार पुलिस  के खुलासे के बाद  इलाहाबाद के रेल आईजी एल बी एंटोनी देव कुमार, लखनऊ एटीएस के आईजी असीम अरुण, झांसी के रेल एसपी सतेंद्र कुमार और गोरखपुर के रेल एसपी अनिरुद्ध पंकज  पूर्वी चंपारण पहुंचकर पूरे मामले की जांच कर रहे हैं.

east

कौन हैं मोती पासवान और मुकेश यादव

पूर्वी चंपारण के आदापुर के बखरी और झिटकहिया गांव के मोती पासवान और मुकेश यादव पर विभिन्न थानों में दर्जनों संगीन मामले दर्ज हैं. जिसमे अपहरण, हत्या, रंगदारी और आर्म्स एक्ट के मामले शामिल हैं. पूर्व में दोनों कई बार जेल भी जा चुके हैं.

moti-paswan

मोती पासवान का घर

बखरी निवासी गिरधारी पासवान के तीन बेटों में मोतीलाल पासवान दूसरे नंबर का है. गरीब परिवार में पैदा हुआ मोतीलाल के पास घर के अलावा करीब 5 कठ्ठा जमीन है. वहीं दूसरी ओर झिटकहिया निवासी मुकेश यादव अपने चार भाइयों में सबसे बड़ा और अविवाहित है. मुकेश के पिता केदार राय के पास मात्र 3 कठ्ठा जमीन है और मजदूरी कर अपने जीवन यापन  करते हैं.

नेपाल में शादी के बाद संदिग्धों से हुई मुलाकात

लक्ष्मीपुर गांव के निवासी मृतक अरुण राम और दीपक कुमार रिश्ते में चाचा भतीजा थे. डेढ़ साल पहले दीपक की शादी नेपाल के बारां जिलान्तर्गत कलैया के समीप बरेवा गांव में हुई थी.

स्थानीय लोगों का कहना है कि नेपाल में शादी होने के बाद से ही दीपक का संदिग्धों के साथ मुलाकात शुरू हुई और वो हमेशा नई नई बाइक लेकर आता था.

भारत- नेपाल सीमा से करीब 3 किलोमीटर बखरी गांव की दूरी है. जबकि झिटकहिया 2 किलोमीटर है. वही लक्ष्मीपुर की की दूरी बॉर्डर से करीब 15 किलोमीटर है.

Tags: Bihar News, Motihari news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर