Home /News /bihar /

साइबर लुटेरों का खौफ, रिटायर्ड टीचर के लूट लिए 11 लाख रुपए

साइबर लुटेरों का खौफ, रिटायर्ड टीचर के लूट लिए 11 लाख रुपए

आर्थिक अपराध से जुड़े साइबर क्राइम के मामले जहां लगातार बढ़ रहे हैं, वहीं गोपालगंज पुलिस साइबर अपराधियों पर अंकुश लगाने में फिसड्डी साबित हो रही है.

आर्थिक अपराध से जुड़े साइबर क्राइम के मामले जहां लगातार बढ़ रहे हैं, वहीं गोपालगंज पुलिस साइबर अपराधियों पर अंकुश लगाने में फिसड्डी साबित हो रही है.

आर्थिक अपराध से जुड़े साइबर क्राइम के मामले जहां लगातार बढ़ रहे हैं, वहीं गोपालगंज पुलिस साइबर अपराधियों पर अंकुश लगाने में फिसड्डी साबित हो रही है.

    आर्थिक अपराध से जुड़े साइबर क्राइम के मामले जहां लगातार बढ़ रहे हैं, वहीं गोपालगंज पुलिस साइबर अपराधियों पर अंकुश लगाने में फिसड्डी साबित हो रही है.

    ऐसे ही एक मामले में साइबर अपराधियों ने रिटायर्ड शिक्षक के बैंक खाते से 11 लाख रुपए पर हाथ साफ कर लिए, जिसमें बैंक प्रबंधन की भूमिका पर भी सवाल उठने लगे हैं.

    शिक्षक सुरेन्द्र नाथ पांडेय पिछले 5 दिनों से हथुआ थाने से लेकर एसबीआई की हथुआ शाखा का चक्कर काट रहे हैं. वजह है इस रिटार्यड शिक्षक के अकाउंट में रखे करीब 11 लाख रुपए जो साइबर अपराधियों ने लूट लिए. लूटी गई अपनी जीवन भर की कमाई वापस पाने के लिए यह शिक्षक दिन रात बैंक और थाने का चक्कर लगा रहा है. बस एक आश में उनकी लूटी गई रकम वापस मिल जाए और वो अपनी दोनों बेटियों की शादी कर सकें.

    पीड़ित सुरेन्द्र पांडेय के मुताबिक, शिक्षक से सेवानिवृत होने के बाद उन्होंने अपनी पूरी कमाई करीब 11 लाख रुपए एसबीआई के हथुआ शाखा में जमा करा दिया. इतनी बड़ी रकम के जमा होने की जानकारी सिर्फ शिक्षक को या फिर बैंक प्रबंधक को थी, लेकिन लाखों रुपए जमा होते ही साइबर अपराधियों ने ढाई महीने में आईआरसीटीसी वेबसाइट के जरिए 11 लाख 28 हजार रुपए लूट लिए.

    यह निकासी 30 अप्रैल से लेकर 22 जून तक लगातार की गई. जिसकी भनक न तो बैंक प्रबंधक को लगी और न ही खाताधारी को. 22 जून 2015 को सुरेन्द्र नाथ पांडेय जब बैंक पहुंचकर अपने खाते की जांच की तो उनके होश उड़ गए. साइबर अपराधियों ने उनके खाते में रखे 11 लाख 28 हजार 283 रुपए लूट लिए थे और लूटी रकम से आईआरसीटीसी के जरिए टिकट बुक करा लिए. पीड़ित परिजनों ने इस बड़ी लूट के लिए बैंक प्रबंधक को भी जिम्मेदार ठहराया है.

    हालांकि, भारतीय स्टेट बैंक के हथुआ शाखा प्रबंधक ने अपनी सफाई देते हुए कहा है कि संबंधित खाते से निकासी एटीएम के जरिए टिकट बुंकिंग के लिए की गई है. शाखा प्रबंधक ने कहा कि शिकायत मिलते ही अकाउंट और एटीएम को ब्लॉक कर दिया गया. शाखा प्रबंधक नवीन प्रकाश के मुताबिक इस लूट में बैंक का कोई कर्मी शामिल नहीं है.

    वहीं, गोपालगंज एसपी अनिल कुमार सिंह का कहना है कि यह साइबर क्राइम है, जिसमें आईआरसीटीसी के जरिए पैसे की लूट की गई है. एसपी के मुताबिक, ऐसा संभव है कि एटीएम के जरिए पैसा निकालने के दौरान साइबर अपराधियों ने अकाउंट हैक कर यह लूट की हो.

    पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है. जल्द ही इस गिरोह की पहचान कर आगे की कार्रवाई की जाएगी. अब देखना है कि पुलिस कब तक साइबर अपराधियों को पकड़ पाती है, ताकि इस शिक्षक की जिन्दगी भर की गाढ़ी कमाई दोबारा वापस लाई जा सके.

    Tags: State Bank of India, गोपालगंज

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर