Home /News /bihar /

पटना में 1 बीघा में फार्म हाउस, 5 बैंकों में 15 खाते, नोट गिनने की मशीन, जमीन के 20 प्लॉट, धनकुबेर अफसर अविनाश प्रकाश

पटना में 1 बीघा में फार्म हाउस, 5 बैंकों में 15 खाते, नोट गिनने की मशीन, जमीन के 20 प्लॉट, धनकुबेर अफसर अविनाश प्रकाश

पूर्वी चंपारण के उत्पाद अधीक्षक अविनाश प्रकाश ने शराब माफियाओं से सांठगांठ कर करोड़ों की संपत्ति बनाई. निगरानी विभाग का छापा.

पूर्वी चंपारण के उत्पाद अधीक्षक अविनाश प्रकाश ने शराब माफियाओं से सांठगांठ कर करोड़ों की संपत्ति बनाई. निगरानी विभाग का छापा.

Corruption News: निगरानी विभाग द्वारा जो जानकारी दी गई है इसके अनुसार पटना में इनका एक विशालकाय फार्म हाउसनुमा मकान है, जो लगभग एक बीघा जमीन में संपूर्ण सुविधाओं से सुसज्जित है. इसमें इनके खूबसूरत बगान, 10 गायों के लिए खटाल एवं कई नौकर-चाकर सेवा में लगे दिखे. इनके पास अपनी 02 JCB मशीन, एक इनोवा गाड़ी तथा करोड़ों की चल-अचल संपत्ति होने के प्रमाण मिले हैं. इनके और इनके परिजनों के नाम कई लाख रुपये के निवेश बैंक एवं एलआईसी में मिले हैं. खगड़िया में एक आलीशान मकान और एक JCB भी बरामद हुई है. पटना में एक फ्लैट खरीदने का एग्रीमेंट पेपर मिला है. एक नोट गिनने की मशीन भी बरामद हुई है.

अधिक पढ़ें ...

पटना/मोतिहारी. शराब माफियाओं से सांठगांठ कर अवैध कमाई करना उत्पाद विभाग के एक्साइज अधीक्षक अविनाश प्रकाश को महंगा पड़ा है. विशेष निगरानी इकाई, पटना ने पूर्वी चंपारण के एक्साइज सुपरिन्टेंडेंट अविनाश प्रकाश के विरुद्ध आय से अधिक सम्पत्ति जमा करने के मामले में बड़े पैमाने पर रेड की है. यह रेड आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने को लेकर मामला दर्ज कर उनके ठिकानों पर बुधवार को की गई. बता दें कि उत्पाद विभाग के किसी पदाधिकारी के विरुद्ध दायर यह पहला मामला है. निगरानी विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, इनके भ्रष्ट आचरण के संबंध में लगातार सूचना मिल रही थी. अविनाश प्रकाश के खिलाफ शिकायत मिली थी कि इन्होंने बिहार लोक सेवक के रूप में अपने पद का दुरुपयोग कर सेवा काल में वैध आय के स्रोत से काफी अधिक धन एकत्र किया और पटना एवं अन्य स्थानों में अचल संपति बनायी. इसके लिए उन्होंने परिजनों और मित्रों तथा अन्य के माध्यम से मनी लॉड्रिंग कर काले धन को सफेद बनाने का भी प्रयास किया है.

निगरानी विभाग द्वारा जो जानकारी दी गई है इसके अनुसार पटना में इनका एक विशालकाय फार्म हाउसनुमा मकान है, जो लगभग एक बीघा जमीन में संपूर्ण सुविधाओं से सुसज्जित है. इसमें इनके खूबसूरत बगान, 10 गायों के लिए खटाल एवं कई नौकर-चाकर सेवा में लगे दिखे. इनके पास अपनी 02 JCB मशीन, एक इनोवा गाड़ी तथा करोड़ों की चल-अचल संपत्ति होने के प्रमाण मिले हैं.

इनके और इनके परिजनों के नाम कई लाख रुपये के निवेश बैंक एवं एलआईसी में मिले हैं. खगड़िया में एक आलीशान मकान और एक JCB भी बरामद हुई है. पटना में एक फ्लैट खरीदने का एग्रीमेंट पेपर मिला है. एक नोट गिनने की मशीन भी बरामद हुई है.

पासपोर्ट के अलावा HDFC Bank की 5 पासबुक,  Allahabad Bank की 1 पासबुक, SBI की 5 पासबुक,  Union Bank की 3 पासबुक, Canara Bank की 1 पासबुक, HDFC LIC की 3 Insurance, TATA AIG में Insurance, LIC में 2 Insurance, एक टैक्सी का रजिस्ट्रेशन पेपर, पत्नी के नाम पर 3 फ्लैट कुल 41 डिसिमल में कीमत 8.25 लाख, पिता के नाम से 20 प्‍लॉट रकबा 800 डिसिमल जिसकी कीमत 48.5 लाख है जो 2016-17 में खरीदा गया है.

इन पर आरोप है कि सरकारी सेवा में रहते हुए इन्होंने नाजायज ढंग से अकूत संपत्ति अर्जित की है, जो कि उनके द्वारा प्राप्त वेतन एवं अन्य ज्ञात स्रोतों की तुलना में बहुत अधिक है. इसी आरोप पर इन पर आय से अधिक कुल 94 लाख से अधिक की संपत्ति गैरकानूनी और नाजायज ढंग से अर्जित करने के कारण एस.भी.यू. कांड संख्या 05 / 2021 u / s 13 ( 1 ) ( b ) 13 ( 2 ) r / w 12 of PC Act 1988 and 120 ( B ) of IPC दर्ज किया गया. इस धनकुबेर अधिकारी द्वारा अर्जित की अवैध संपति से संबंधित जानकारी और भी मिलने की संभावना है.

Tags: Anti corruption branch, Corruption, Corruption news, East champaran, Motihari news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर