अपना शहर चुनें

States

रात के अंधेरे में 'मयखाना' बन गया बिहार का ये क्‍वारंटाइन सेंटर, खूब छलके जाम

बिहार के मोतिहारी स्थित क्वारेंटाइन सेंटर में शराब पार्टी.  (Demo Pic)
बिहार के मोतिहारी स्थित क्वारेंटाइन सेंटर में शराब पार्टी. (Demo Pic)

समस्‍तीपुर के बाद अब मोतिहारी के पकड़ीदयाल स्थित एक क्वॉरंटाइन सेंटर (Quarantine Center) में शराब पार्टी का आयोजन करने का मामला सामने आया है.

  • Share this:
मोतिहारी. प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) के लिए बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर (Quarantine Center) से पहले बदहाली और अव्यवस्था की खबरें आ रही थी लेकिन अब क्वॉरेंटाइन सेंटर से अय्याशी और मौज-मस्ती की तस्वीरें लगातार सामने आ रही हैं. मंगलवार को जहां बिहार के समस्तीपुर (Samastipur) में एक क्वारेंटाइन सेंटर सेंटर में बार बालाओं को ठुमका लगाते हुए देखा गया तो वहीं पूर्वी चम्पारण के एक क्वारेंटाइन सेंटर सेंंटर से शराब पार्टी (Liquor Party) करने की भी खबरें सामने आई हैं. रात के अंधेरे में पहले तो इस सेंटर पर जाम छलके फिर मारपीट भी हुई. इस घटना में दो गुटों के बीच हुई झड़प में एक प्रवासी मजदूर का पैर भी टूट गया

स्कूल में बनाया गया है क्वारेंटाइन सेंटर

मामला मोतिहारी के पकड़ीदयाल के सुंदर पट्टी मध्य विद्यालय स्थित क्वॉरंटाइन सेंटर से जुड़ा है. यहां क्वॉरंटाइन सेंटर में ही शराब पार्टी का आयोजन किया गया. और तो और इस शराब पार्टी के दौरान दो गुटों में जमकर मारपीट भी हुई, जिसमें क्वॉरंटाइन किए गए एक प्रवासी मजदूर का पैर भी टूट गया.



एक मजदूर का पैर भी टूटा
जानकारी के मुताबिक, क्वॉरंटाइन सेंटर में ग्रामीण और प्रवासी मिलकर शराब पार्टी कर रहे थे. इसी दौरान दो गुट आपस में भिड़ गए और जमकर मारपीट हुई. मारपीट के दौरान असामाजिक तत्व सेंटर में ही बाइक और देसी शराब छोड़ कर भाग निकले. घटना की जानकारी जैसे ही स्थानीय पुलिस को मिली पुलिस भी मामले की तलाश के लिए पहुंची. इस मामले में कोई भी सरकारी अधिकारी कुछ बोलने से बच रहा है.

समस्तीपुर के क्वारेंटाइन सेंटर में लग चुके हैं ठुमके
इससे पहले बिहार के समस्तीपुर जिले के कर्राख गांव का भी एक क्वारंटाइन सेंटर बाहर से डांसर्स बुलाकर मनोरजंन करने के कारण विवादों में आ गया है. सोमवार की रात को क्वारंटाइन सेंटर में ये डांस करवाया गया जिसमें जमकर ठुमके लगे. इस मामले पर समस्तीपुर के एडिशनल कलेक्टर का कहना है कि हम संज्ञान ले रहे हैं और कार्रवाई की जाएगी. हमने वहां टीवी जरूर लगाया है, लेकिन प्रशासन ने बाहर से डांसर्स बुलाकर किसी भी मनोरंजन की अनुमति नहीं दी है.

अधिकारियों ने साधी चुप्पी

इस मामले में कोई भी सरकारी अधिकारी कुछ बोलने से बच रहे हैं. पूर्वी चम्पारण में प्रवासी मजदूरों के आने का क्रम लगातार जारी है. अब तक दर्जनभर ट्रेनों से दूसरे प्रदेश में काम करने गये मजदूरों और कामगारों को वापस घर लाया जा सका है. इसके अलावे लोग पैदल और निजी सवारियों से वापस आ रहे है. पूर्वी चम्पारण जिले में बने 34 क्वारेंटाइन सेंटर सहित सभी पंचायतों के स्कूलों में क्वरेंटाइन रहने की व्यवस्था प्रशासन ने की है जहां से तरह तरह की तस्वीरें सामने आ रही हैं.

इनपुट- मुकेश सिन्हा

ये भी पढ़ें- Bihar Live News Update: बिहार पर सुपर साइक्‍लोन अम्‍फान का खतरा, 22 जिलों के जद में आने की आशंका

ये भी पढ़ेंआज 50 श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बिहार लौटेंगे मजदूर, 1 जून से शुरू होगी ये सेवा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज