बिहार: ....लोगों के खून से सने हाथ कोरोना काल में जिंदगी बचाने में जुटे! पढ़ें पूरी कहानी
East-Champaran News in Hindi

बिहार: ....लोगों के खून से सने हाथ कोरोना काल में जिंदगी बचाने में जुटे! पढ़ें पूरी कहानी
मोतिहारी सेंट्रल जेल में कैदी पीपीई किट तैयार कर रहे हैं.

एसपी नवीन चंद्र झा (SP Naveen Chandra Jha) ने बताया कि जेल के कैदी पहले से मास्क और ग्लव्स बना रहे थे, जिसकी सप्लाई पुलिस के लिए हुई है, लेकिन अब कैदियों ने पीपीई किट (PPE Kit) बनाना शुरू किया है. जिसके विशेष प्लास्टिक उपलब्ध कराया गया है.

  • Share this:
मोतिहारी. जिन हाथों ने दूसरों की सांसे छीनी थी अब वही हाथ लोगों के सांसों को टूटने से बचाने में लगे हैं. मोतिहारी सेंट्रल जेल (Motihari Central Jail) में बंद सजायाप्ता कैदियों ने दामन पर लगे खून के धब्बे को अपने पसीने से धोने में लगे हैं. जेल में हत्या जैसे संगीन अपराधों की सजा काट रहे कैदी जेल के अन्दर पीपीई किट (PPE Kit) बना रहे हैं. हलांकि, कोरोना संकट (Corona Crisis) शुरू होने के समय से हीं जेल के कैदी मास्क बना रहे हैं  जिसका काम जारी है. लेकिन जेल अधीक्षक की पहल पर कैदियों ने पीपीई किट बनाना शुरू किया है.

इसकी जानकारी मिलने पर एसपी नवीन चंद्र झा ने एक विशेष तरह का प्लास्टिक उपलब्ध कराकर पीपीई सप्लाई का आर्डर जेल प्रशासन को दिया. जेल के कैदियों ने जिला पुलिस को 32 पीपीई किट सप्लाई किया है.  हलांकि, जेल में बने पीपीई कीट के मूल्य का निर्धारण अभी नहीं हुआ है, लेकिन मैटेरियल कॉस्ट के हिसाब से जेल में बने पीपीई कीट काफी सस्ता होने का अनुमान है.

एसपी नवीन चंद्र झा ने बताया कि जेल के कैदी पहले से मास्क और ग्लव्स बना रहे थे, जिसकी सप्लाई पुलिस के लिए हुई है, लेकिन अब कैदियों ने पीपीई किट बनाना शुरू किया है. जिसके विशेष प्लास्टिक उपलब्ध कराया गया है. इस किट का उपयोग पुलिसकर्मी जरूरत पड़ने पर करेंगे.



बता दें कि कोरोना संकट शुरु होने के समय मास्क की बढ़ी डिमांड को देखते हुए जेल अधीक्षक ने जेल के अंदर सिलाई ट्रेनिंग ले चुके सजायाफ्ता कैदियों को मास्क बनाने का प्रस्ताव दिया था. लिहाजा, देश में कोरोना के खिलाफ जारी जंग में अपना योगदान देने के लिए कैदियों ने मास्क के साथ ग्लव्स बनाना शुरू किया.
मोतिहारी सेंट्रल जेल में मास्क व पीपीई किट तैयार करते कैदी.


इसके बाद पीपीई किट की बढ़ती मांग को देख कैदियों ने पीपीई कीट बनाने की पेशकश जेल प्रशासन से की और पहले प्लास्टिक एक डमी पीपीई किट कैदियों ने बनाया. कैदियों के बनाए पीपीई कीट इतने सुरक्षित थे कि एसपी ने 50 पीपीई के सप्लाई का ऑर्डर देते हुए एक विशेष प्रकार का प्लास्टिक जेल प्रशासन को उपलब्ध कराया. अब इसी प्लास्टिक से कैदी पीपीई किट बना रहे हैं.

ये भी पढ़ें

बर्थडे स्पेशल: ...जब 'गायब' हो गए थे 'लड़ाका लालू'! तब उनके 'हनुमान' ने किया ये काम

बर्थडे स्पेशल: ...जब लालू ने नीतीश को गले लगा सबको चौंकाया था
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading