बाढ़ में फंसे तीन साल के बच्चे के लिए देवदूत बनी एनडीआरएफ की टीम

बाढ़ के तांडव में राज्य भर में अब तक 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. मौत का यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है.

News18 Bihar
Updated: July 30, 2019, 10:20 AM IST
बाढ़ में फंसे तीन साल के बच्चे के लिए देवदूत बनी एनडीआरएफ की टीम
एनडीआरएफ (फाइल फोटो)
News18 Bihar
Updated: July 30, 2019, 10:20 AM IST
बिहार में बाढ़ की समस्या विकराल होती जा रही है. राज्य में बाढ़ से 13 जिलों में 88.46 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. वहीं, नैशनल डिजास्टर रिस्पॉन्स फोर्स (एनडीआरएफ) के रेस्क्यू टीम ने बिहार के पूर्वी चंपारण जिले में एक गांव में रात भर चलाए गए अभियान के बाद तीन वर्षीय एक बच्चे को बचा लिया, जिसे सांप ने डस लिया था.

घटना बंजरिया प्रखंड के जनेरवा गांव की है. एनडीआरएफ ने एक बयान में सोमवार को बताया कि सफातुल्ला के बेटे फरान को 28-29 जुलाई की दरम्यानी रात रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सदर अस्पताल मोतिहारी ले जाया गया. वहां पर बच्चे की हालत स्थिर बताई जा रही है.

एनडीआरएफ के नौवीं बटालियन के कमांडेंट विजय सिन्हा ने कहा कि इस साल रेस्क्यू कर्मियों ने बाढ़ प्रभावित इलाके से चार ऐसे लोगों को सुरक्षित निकाला, जिन्हें सांप ने डस लिया गया. इस तरह के दो मामले पूर्वी चंपारण, जबकि एक-एक घटना अररिया और मधुबनी जिले में हुई थी.

बता दें कि बाढ़ के तांडव में राज्य भर में अब तक 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. मौत का यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. आधिकारिक आंकड़ों की बात करें तो आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक बाढ़ से मरने वालों की संख्या 127 हो गई है.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें- 

बिहार: बाढ़ के बीच कम बारिश से 12 जिलों में सूखे के हालात 
Loading...

बिहार में बाढ़ का कहर, देखते ही देखते बह गई सड़क 
First published: July 30, 2019, 10:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...