बिहार में बाढ़ का कहर जारी, ट्रैक पर पानी चढ़ने के बाद सुगौली-नरकटियागंज रूट पर बंद हुआ ट्रेनों का परिचालन
Motihari News in Hindi

बिहार में बाढ़ का कहर जारी, ट्रैक पर पानी चढ़ने के बाद सुगौली-नरकटियागंज रूट पर बंद हुआ ट्रेनों का परिचालन
बाढ़ के पानी से डूबा बिहार का सुगौली रेलवे स्टेशन

सुगौली रेलवे जंक्शन के अधीक्षक दिलीप सिंह बताते हैं कि बड़े खतरे को देखते हुए और जान-माल की सुरक्षा के मद्देनजर शनिवार की रात्रि से ट्रेनों के परिचालन पर रोक लगायी गयी है.

  • Share this:
मोतिहारी. नेपाल से आने वाली नदियों में आयी बाढ़ (Bihar Flood) से पूर्वी चम्पारण में तबाही लगातार जारी है. बुढी गंडक सिकरहना नदी की रौद्र रुप सुगौली प्रखंड में देखने को मिल रहा है. अन्तरराष्ट्रीय महत्व वाले सुगौली जंक्शन (Sugauli Junction) के रेलवे ट्रैक पर पिछले तीन दिनों से पानी चढ़ गया है. पानी चढ़ने के बावजूद रेलवे ने यात्रियों की सुविधा के लिए लम्बी दूरी की ट्रेनों को कौशन पर चलाया. बाढ वाले इलाके में ट्रनों के आगे सिर्फ रेल इंजन को चलाकर रेलवे परिचालन को जारी रखा लेकिन सुगौली-नरकटियागंज रेलखंड के मझौलिया रेलवे स्टेशन के पहले एक पुल को बाढ़ का पानी तेज गति से छू रहा है जिसके बाद रेलवे ट्रैक पर खतरा आने की संभावना इंजिनियरों और अधिकारियों के जांच में पाया गया.

भारत समेत नेपााल के लोग भी करते हैं यात्रा

खतरे को देखते हुए रेलवे के अधिकारियों ने ट्रेनों के परिचालन को बन्द कर दिया है. रेलवे के ट्रेनों के इस रूट के परिचालन को बन्द करने के निर्णय के बाद ट्रेनों का परिचालन रुट बदल कर शुरु किया गया है। जिससे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड रहा है. बापूधाम मोतिहारी, मुजफ्फरपुर और रक्सौल स्टेशनों से प्रतिदिन कई गाड़ियां राजधानी दिल्ली और महत्वपूर्ण स्थानों की लिए सुगौली रेलवे जंक्शन से होकर गुजरती हैं. इन ट्रेनों से पूर्वी चम्पारण जिला के विभिन्न इलाकों के यात्रियों के अलावे नेपाल के यात्री सुगौली से ही अपनी यात्रा को प्रारम्भ करते हैं जिस कारण सुगौली रेलवे जंक्शन को रेलवे की कमाई का महत्वपूर्ण स्थान माना जाता है.



अभी भी बरकरार है खतरा
सुगौली रेलवे जंक्शन के अधीक्षक दिलीप सिंह बताते हैं कि बड़े खतरे को देखते हुए और जानमाल की सुरक्षा के मद्देनजर शनिवार की रात्रि से ट्रेनों के परिचालन पर रोक लगायी गयी है. आज भी इंजीनियरों और सुरक्षा अधिकारियों ने पुलों का निरीक्षण किया है लेकिन स्थिति अभी भी खतरे वाली है. बाढ़ के पानी का कम होने का सिलसिला जारी है और पुलों से पानी का दबाव कम होते ही ट्रेनों का परिचालन फिर से शुरू कर दिया जायेगा. दिल्ली जाने के लिए रिजर्वेशन कराये यात्री विकास तिवारी ने बताया कि बाढ़ की वजह से ट्रेनों की आवाजाही पर रोक लगी है. ट्रेनों के बन्द होने से अपना टिकट वापस करा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading