Home /News /bihar /

22 ak 47 rifle recovery case munger court convicted 2 among 12 accused know latest updates nodmk3

22 AK-47 बरामदगी मामले में 2 दोषी करार, जमीन के अंदर, कुएं और नालों से मिले थे खतरनाक हथियार

AK-47 बरामदगी मामले में मुंगेर की अदालत ने बुधवार को अपना फैसला सुना दिया. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

AK-47 बरामदगी मामले में मुंगेर की अदालत ने बुधवार को अपना फैसला सुना दिया. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

मुंगेर में जमीन के अंदर से लेकर कुएं और नालों से 22 AK-47 राइफल और उसके पार्ट्स बरामद किए गए थे. जांच में सभी राइफल के मध्य प्रदेश स्थित सीओडी (सेन्ट्रल ऑर्डानेंस डिपो ) से होने का पता चला था. इस मामले में अब मुंगेर की एक कोर्ट ने फैसला सुनाया है.

अधिक पढ़ें ...

मुंगेर. बिहार के बहुचर्चित AK-47 राइफल रिकवरी मामले में मुंगेर की अदालत ने फैसला सुना दिया है. कोर्ट ने इस मामले में 2 को दोषी करार दिया है. बता दें कि AK-47 बरामदगी मामले में कुल 12 आरोपियों के खिलाफ मामला चला था. कोर्ट ने इनमें से 2 को दोषी करार दिया है. बता दें कि जमीन के अंदर, कुएं और नाले से ताबड़तोड़ 22 AK-47 राइफलें बरामद की गई थीं. इससे बिहार ही नहीं बल्कि पूरे देश में सनसनी फैल गई थी. AK-47 राइफल के पार्ट्स भी बरामद किए गए थे. इस बरामदगी से जांच एजेंसियों की भी नींद उड़ गई थी. इसी मामले में न्‍यायाधीश बिपिन बिहारी की अदालत ने फैसला सुनाया है.

AK-47 बरामदगी मामले में जज बिपिन बिहारी रॉय (एडीजे 7) की अदालत ने 12 वादियों के आरोपों पर अंतिम सुनवाई की, जिनमें से 2 दोषी करार दिए गए हैं. कोर्अ ने 10 आरोपियों को बरी कर दिया है. इनमें से 3 महिला और 7 पुरुष शामिल हैं. बरी होने के बावजूद सभी आरोपियों को फिलहाल जेल में ही रहना होगा, क्योंकि AK-47 बरामदगी मामले में कुल 8 मामले दर्ज हैं. इनमें से 1 मामला एनआईए के पास है. रिहा अभियुक्तों का अन्य केसों में भी नाम शामिल है. दोषियों की सजा पर अगली तारीख पर सुनवाई होगी.

बिहार को एक और एक्‍सप्रेस वे की सौगात, ₹28500 करोड़ की लागत से बनेगी वाराणसी-रांची-कोलकाता हाईस्‍पीड रोड

कोर्ट ने AK-47 बरामदगी मामले में अभियुक्त इरशाद और सत्यम को दोषी करार दिया है. साक्ष्य के अभाव में 3 महिला सहित 10 आरोपियोंन को रिहा कर दिया गया. रिहा सभी अभियुक्तों को अभी जेल में ही रहना पड़ेगा, क्योंकि AK-47 मामले में दर्ज अन्य 7 मामलों में भी इनका नाम शामिल है. बचाव पक्ष की ओर से एडवोकेट शाहिद हुसैन ने तो सरकार की ओर से लोक अभियोजक शमीम अनवर ने दलीलें पेश कीं. लोक अभियोजक ने बताया की साक्ष्य के अभाव में 10 को इस केस में रिहा किया कर दिया गया है.

क्‍या है मामला?
पिछले साल मुंगेर में जमीन के अंदर से लेकर कुएं और नालों से 22 AK-47 राइफल और उसके पार्ट्स बरामद किए गए थे. जांच में यह सामने आया है कि सभी राइफल मध्य प्रदेश के एक सीओडी (सेन्ट्रल ऑर्डानेंस डिपो ) का है. इसमें सेना के जवान सहित सीओडी के कर्मी और ऑफिसर की संलिप्‍तता भी सामने आई थी. जांच में खुलासा होने के बाद बिहार के मुंगेर से लेकर एमपी और झारखंड पुलिस द्वारा छापेमारी की गई थी. इसमे सेना के जवान, सीओडी के अधिकारी और कर्मी की गिरफ्तारी हुई थी. गिरफ्तार अभियुक्तों ने सीओडी से करीब 60 से 70 AK-47 राइफलों के गायब होने की बात कही थी. इस मामले में पुलिस ने जिले के विभिन्न थानों में 8 केस दर्ज किया था. एक केस की जांच NIA कर रही है.

Tags: Crime News, Munger news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर