मुंगेर से गायब बच्चा एक महीने बाद फरीदाबाद से बरामद

मुंगेर जिले के तारापुर से अपहृत 10 साल के एक लड़के को करीब एक महीना बाद तारापुर पुलिस ने बरामद कर लिया है.

  • Share this:
मुंगेर जिले के तारापुर से अपहृत 10 साल के एक लड़के को करीब एक महीना बाद तारापुर पुलिस ने बरामद कर लिया है. तारापुर पुलिस के मुताबिक अपहरण की वारदात में शामिल दो लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

तारापुर के डीएसपी रमेश कुमार ने बताया कि एक निजी क्लीनिक में कार्यरत नर्स अंजली के बेटे आदित्य का 29 मार्च को तारापुर के कुशवाहा कॉलोनी में बाइक सवार अपराधियों ने अपहरण कर लिया था. बेटे के अपहरण के बाद नर्स ने तारापुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी. प्राथमिकी दर्ज होते ही तारापुर पुलिस ने अपहृत के बरामदगी को लेकर जाल बिछाना शुरू कर दिया.

इस बीच अपहृत आदित्य के बारे में सूचना मिली कि वह दिल्ली से सटे फरीदाबाद में है. सूचना मिलते ही आदित्य की बरामदगी को लेकर अवर निरीक्षक सुशील कुमार सिंह के नेतृत्व में एक पुलिस टीम फरीदाबाद लिए रवाना हुई. पुलिस टीम ने फरीदाबाद पहुंच कर एक किराए के मकान से 26 अप्रैल को अपहृत आदित्य सकुशल बरामद कर लिया. एक महिला पुतुल देवी के संरक्षण में अपहृत वहां रह रहा था.



तारापुर थाने में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में रमेश कुमार ने आगे बताया कि आदित्य के अपहरण मामले का मास्टरमाइंड देवघर के रहने वाले नीतीश को रेल पुलिस के सहयोग से 25 अप्रैल को बाढ़ रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया गया. नीतीश ने कड़ी पूछताछ के बाद पुलिस को बताया कि वह फरीदाबाद में अपने पत्नी पुतुल देवी के पास अपहृत बच्चे को रखा है जिसके बाद पुलिस फरीदाबाद पहुंचकर अपहृत आदित्य को बरामद कर लिया. साथ ही नीतीश की पत्नी पुतुल देवी को गिरफ्तार कर मुंगेर लाया गया.
ये भी पढ़ें-

काराकाट से भगोड़ा की तरह उजियारपुर आना चाहते हैं उपेंद्र कुशवाहा: नित्यानंद राय

'उपेंद्र कुशवाहा ने कार्यकर्ताओं के साथ नहीं किया न्याय, भुगतना पड़ेगा परिणाम'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज