ट्विटर पर 'मुंगेर नरसंहार' टॉप ट्रेंड के बीच बिहार में मतदान जारी, वायरल वीडियो पर सियासत तेज, जानें तेजस्वी-चिराग ने क्या कहा

मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन के दौरान लाठीचार्ज करते हुए सादे लिबास में पुलिसकर्मी.
मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन के दौरान लाठीचार्ज करते हुए सादे लिबास में पुलिसकर्मी.

शेयर किए जा रहे वीडियो के साथ ही #मुंगेर_नरसंहार (#Munger) ट्विटर पर टॉप ट्रेंडिंग में है. लोग पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं और जिले की एसपी लिपि सिंह को हटाने की मांग कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 9:02 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election ) के पहले चरण के लिए 16 जिलों की 71 सीटों पर वोटिंग जारी है. एनडीए और महागठबंधन (Mahagathbandhan) के बीच अधिकतर सीटों पर सीधे मुकाबले की बात की जा रही है. आज भी सियासी बयानों का सिलसिला जारी है और इसी क्रम में बिहार की राजनीति मुंगेर में मूर्ति विसर्जन के दौरान पुलिस की नाकामी और कथित बर्बरता को लेकर गरमाई हुई है. लोगों के गुस्से के बीच बहस माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर भी जारी है और पुलिस की बर्बरता का एक वीडियो खूब शेयर किया जा रहा है. इसके साथ ही ट्विटर पर #मुंगेर नरसंहार भी ट्रेंड हो रहा है.

शेयर किए जा रहे वीडियो के साथ ही #मुंगेर_नरसंहार (#Munger) ट्विटर पर टॉप ट्रेंडिंग में  है. लोग पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं और जिले की एसपी लिपि सिंह को हटाने की मांग कर रहे हैं. दरअसल जो वीडियो ट्विटर पर शेयर हो रहा उसके अनुसार साफ देखा जा सकता है कि कि कुछ पुलिसकर्मी एक वाहन को घेरकर कुछ लोगों की पिटाई कर रहे हैं. सादी वर्दियों में पुलिसवाले मूर्ति के पास बैठे लोगों पर ताबड़तोड़ लाठियां चला रही है. इस वीडियो को सीपीआई नेता व जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने भी शेयर किया है.


बता दें कि मुंगेर के शादीपुर में हुई पुलिस और लोगों के बीच झड़प में एक युवक की मौत हो गई और करीब 25 लोगों के घायल हो गए थे. हालांकि कई राजनीतिक दल चार मौत की बात कह रहे हैं. वहीं इसी विषय को लेकर महागठबंधन की तरफ से पटना में संयुक्त प्रेस वार्ता में बिहार सरकार की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए गए.





कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला, पवन खेड़ा राज्यसभा सांसद मनोज झा और प्रेमचंद मिश्रा  की मौजूदगी में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि पुलिस की बर्बरता मुंगेर में बखूबी देखने को मिली है. वहां पुलिस ने लोगों को ढूंढ- ढूंढकर पीटा है. बिहार के मुंगेर में हुई इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री क्या कर रहे हैं. मुंगेर में वहां की पुलिस अधिकारी को जनरल डायर बनने की अनुमति आखिर किसने दी है. तेजस्वी ने कहा कि इस घटना के बाद वहां के डीएम-एसपी को तत्काल हटाना चाहिए साथ ही पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच हाईकोर्ट के जज की निगरानी में होनी चाहिए.

वहीं सुरजेवाला ने कहा कि मुंगेर में नरसंहार हुआ है. अब बिहार में निर्दयी कुमार और निर्मम मोदी की सरकार है. प्रदेश के सीएम नीतीश कुमार हैं लेकिन मां दुर्गा के भक्तों पर गोली और लाठी चलाई गई. मोदी और नीतीश की पुलिस ने उन भक्तों पर लाठियां चलाईं. एक युवा अनुराग के सिर में गोली मारी गई.

लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने मुंगेर मामले पर कहा कि  जो वहां हुआ वो जनरल डायर की घटना की याद दिलाता है. प्रशासन ने जानबूझकर किया और नीतीश कुमार जनरल डायर की भूमिका में हैं. मुंगेर की एसपी नीतीश कुमार के रसूखदार सहयोगी की पुत्री है इसलिए इस पुलिस अधिकारी पर कार्रवाई नहीं होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज