होम /न्यूज /बिहार /Munger: सदर अस्पताल में डेंगू मरीजों के इलाज में लापरवाही, डॉक्टर-मेडिकल स्टाफ नहीं देते ध्यान

Munger: सदर अस्पताल में डेंगू मरीजों के इलाज में लापरवाही, डॉक्टर-मेडिकल स्टाफ नहीं देते ध्यान

मुंगेर के सदर अस्पताल में भर्ती डेंगू से पीड़ित मरीज ने मोहम्मद अनवर ने कहा कि उन्हें यहां भर्ती हुए कई दिन बीत चुके हैं ...अधिक पढ़ें

    सिद्धांत राज

    मुंगेर. यदि आप बेहतर इलाज की उम्मीद लिए बिहार के किसी सरकारी अस्पताल में जाते हैं, लेकिन वहां कुव्यवस्था देखने को मिले तो निश्चित ही आपका मन व्यथित हो जाएगा. मुंगेर जिला के सबसे बड़े अस्पताल की स्थिति कुछ ऐसी ही है. यहां के सदर अस्पताल में लचर व्यवस्था के चलते आम और डेंगू मरीजों का एक साथ इलाज चल रहा है. जिले में डेंगू मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, लेकिन सदर अस्पताल में समुचित वार्ड तक तैयार नहीं हो सका है ताकि डेंगू मरीजों का अलग से बेहतर इलाज हो सके.

    अस्पताल में आम और डेंगू मरीज एक साथ भर्ती

    सदर अस्पताल में इलाज कराने आये अन्य बीमारियों के मरीजों को सामान्य वार्ड में भर्ती किया गया है. उसी वार्ड में डेंगू मरीजों को भी रखा गया है. मरीजों के परिजनों का आरोप है कि अस्पताल में व्यवस्था लचर के कारण मरीजों की उचित देखरेख हो पा रही है. साथ ही अस्पताल में न तो डॉक्टर समय पर आते हैं, और न ही यहां कोई जांच करने वाला है.

    डेंगू मरीजों की परेशानी को किया बयां

    सदर अस्पताल में भर्ती डेंगू से पीड़ित मरीज ने मोहम्मद अनवर ने कहा कि उन्हें यहां भर्ती हुए कई दिन बीत चुके हैं, लेकिन उनका हाल जानने के लिए डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ के पास समय नहीं है. सिर्फ कोरम पूरा करने के लिए एक बार जो डॉक्टर आया, वो फिर दोबारा नहीं आया. उन्होंने बताया कि पास के बेड पर भर्ती डेंगू के मरीज की उचित इलाज के अभाव में मौत हो गई. वहीं, एक अन्य मरीज वीरेंद्र कुमार ने बताया कि इस अस्पताल में डॉक्टर नहीं हैं, और यदि हैं भी तो वो अपने एयर कंडीशन कमरे में बैठ कर अपना ड्यूटी पूरा कर लेते हैं.

    सदर अस्पताल के ANM भी सिस्टम से नाराज

    सदर अस्पताल में कार्यरत एक सीनियर एएनएम ने यहां के सिस्टम के प्रति नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा कि अस्पताल में डेंगू मरीज के लिए अलग से कोई वार्ड नहीं बनाया गया है. साथ ही यहां कर्मी की कमी है. उन्होंने आगे कहा कि डेंगू मरीज या अन्य मरीज को ऑक्सीजन लगाने के लिए स्टॉफ नहीं है. खुद ही ऑक्सीजन सिलेंडर के मीटर को लगाना पड़ता है. अस्पताल प्रबंधक मनीष प्रणय ने बताया कि सदर अस्पताल में अभी 18 डेंगू से पीड़ित मरीज भर्ती हैं.

    Tags: Bihar News in hindi, Dengue, Dengue death, Munger news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें