बिहार विधानसभा चुनाव से पहले मुंगेर में दनादन छापेमारी, 4 तस्करों से हथियारों की बड़ी खेप जब्त

हथियारों के 4 तस्कर चढ़े पुलिस के हत्थे. उनसे जब्त किए गए असलहों के साथ पुलिस अधिक्षक लिपि सिंह.
हथियारों के 4 तस्कर चढ़े पुलिस के हत्थे. उनसे जब्त किए गए असलहों के साथ पुलिस अधिक्षक लिपि सिंह.

मुंगेर पुलिस ने दो थाना क्षेत्रों में कार्रवाई की. यहां से गिरफ्तार तस्करों से 7.65 एमएम की 5 पिस्टल, 7.65 एमएम की 50 गोलियां, .315 बोर की 6 गोलियां, छह राउंड वाला एक रिवाल्वर और 6 कट्टा बरामद किए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2020, 4:14 PM IST
  • Share this:
मुंगेर. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) से पहले मुंगेर (Munger) में दनादन छापेमारी हो रही है. हथियार तस्करों (Arms smugglers) के खिलाफ धर-पकड़ की मुहिम जारी है. इस कड़ी में आज असरगंज और मुफस्सिल थाना क्षेत्र में कार्रवाई की गई और चार तस्करों को गिरफ्तार किया गया है. इनके पास से बड़ी संख्या में हथियारों की बरामदगी भी हुई है. यह अभियान मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह (Superintendent of Police Lipi Singh) के निर्देश पर जिला आसूचना इकाई द्वारा स्थानीय थानों के सहयोग से हो रही है. इससे पहले कल भी मिनी गन फैक्टरी का भंडाफोड़ कर हथियारों की बड़ी खेप बरामद की गई थी.

गिरफ्तार बदमाशों का है आपराधिक रिकॉर्ड

आज हुई कार्रवाई में 7.65 एमएम की 5 पिस्टल, 7.65 एमएम की 50 गोलियां, .315 बोर की 6 गोलियां, रिवाल्वर की एक गोली, छह राउंड वाला एक रिवाल्वर और 6 कट्टा बरामद किए गए हैं. मुफस्सिल थाना क्षेत्र से मोहम्मद फजल और पंकज सिंह को गिरफ्तार किया गया है. मोहम्मद फजल असरगंज थाना के विष्णुपुर का रहने वाला है, लेकिन फिलहाल बाकरपुर स्थित अपने ननिहाल में रह रहा था और वहीं से अवैध हथियारों की सप्लाई का नेटवर्क चला रहा था. पंकज सिंह खड़गपुर थाना क्षेत्र के मुंढेरी गांव का रहने वाला है. वही हथियारों को लाकर पहुंचाता था. असरगंज थाना क्षेत्र में की गई कार्रवाई में मोहम्मद शमशेर और सिंकु पाठक को गिरफ्तार किया गया. असरगंज थाना द्वारा 1 रिवाल्वर और 7 गोलियां बरामद की गई हैं. गिरफ्तार सिंकु पाठक का लंबा आपराधिक इतिहास रहा है और उस पर लूट, डकैती, अपहरण, वाहन चोरी के कई मामले दर्ज हैं. मोहम्मद शमशेर भी लूट के मामले में जेल जा चुका है और उसके खिलाफ भी कई मामले दर्ज हैं. गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.



बीडीओ के अपहरण का भी आरोपी है सिंकु पाठक
रिंकू पाठक पर लूट, डकैती के अलावा प्रखंड विकास पदाधिकारी के अपहरण का भी मामला दर्ज है. कई जिलों में उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हैं. सिंकु पाठक मूल रूप से बांका जिले का रहने वाला है. फिलहाल वह असरगंज में ही रह रहा था. वह पहले भी जेल जा चुका है. गिरफ्तार सिंकु पाठक के खिलाफ बांका, बेगूसराय, भागलपुर और मुंगेर में कई प्राथमिकियां दर्ज हैं. बांका जिले में पदस्थापित प्रखंड विकास पदाधिकारी के अपहरण की भी प्राथमिकी इसके खिलाफ दर्ज है. वाहन लूट और पेट्रोल पंप लूट के भी कई मामले गिरफ्तार सिंकु पाठक के खिलाफ दर्ज हैं.

मुंढेरी में बनने वाले हथियारों की करता था आपूर्ति

गिरफ्तार तस्करों का नेटवर्क काफी बड़ा था. मुंढेरी स्थित सौरव साह जो हथियार बनाता था, उसकी बिक्री कराने में सिंकु पाठक शामिल था. मुंढेरी में बनने वाले हथियारों को सिंकु पाठक तक पहुंचाया जाता था और सिंकु पाठक कुरियर के जरिए दूसरी जगहों तक उन हथियारों को पहुंचाता था. मुंढेरी का रहने वाला पंकज सिंह भी सिंकु पाठक के नेटवर्क में शामिल था. सौरव साह द्वारा बनाए गए हथियारों को सिंकु पाठक तक पहुंचाना और सिंकु पाठक के कहे अनुसार मोहम्मद फजल तक हथियार पहुंचाने में पंकज सिंह की भूमिका थी.

फजल की गतिविधियों पर थी जिला आसूचना इकाई की नजर

पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह को सूचना मिली थी कि बाकरपुर का रहने वाला मोहम्मद फजल हथियारों की तस्करी में लिप्त है. इसके बाद जिला आसूचना इकाई ने उस पर निगरानी रखनी शुरू कर दी गई थी. पंकज सिंह जब हथियार लेकर आया था तब फजल के ननिहाल स्थित घर पर छापामारी की गई और वहां से 5 पिस्टल, 5 कट्टा और 50 गोलियां बरामद की गई थीं.

हथियार बरामदगी के लिए चल रहा बड़े पैमाने पर अभियान

मुंगेर पुलिस द्वारा अवैध हथियार बनाने वालों के खिलाफ जबर्दस्त अभियान चलाया जा रहा है. नेटवर्क में शामिल धंधेबाजों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी थानाध्यक्षों को कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे और उसी आलोक में जिला आसूचना इकाई द्वारा स्थानीय थानों के साथ मिलकर लगातार कार्रवाई की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज