मुंगेर : डॉक्टरों के चेहरे पर छायी खुशी जब कोरोना संक्रमित महिला मरीज के वॉर्ड में सुनाई पड़ीं किलकारियां

कोरोना संक्रमित महिला के सामान्य प्रसव के बाद नर्सों की गोद में नवजात.

कोरोना संक्रमित महिला के सामान्य प्रसव के बाद नर्सों की गोद में नवजात.

मुंगेर के अनुमंडलीय अस्पताल तारापुर में डॉक्टरों की टीम ने कोरोना संक्रमित एक महिला मरीज का सुरक्षित प्रसव कराया है. महिला ने बेटे को जन्म दिया है और जच्चा व बच्चा दोनों सुरक्षित हैं.

  • Share this:
मुंगेर. कोरोना महामारी के इस दौर में लगातार होने वाली मौतों से मन ने यह धारणा बना ली है कि कोरोना की चपेट में आकर क्रिटिकल हुए मरीज की मौत होनी ही है. लेकिन यह धारणा सही नहीं है. क्रिटिकल मरीजों ने भी कोविड से जंग जीती है. ताजा मामला कोरोना संक्रमित महिला मरीज के वॉर्ड में किलकारियां गूंजने का है. मामला मुंगेर के अनुमंडलीय अस्पताल तारापुर का है. यहां डॉक्टरों की टीम ने कोरोना संक्रमित एक महिला मरीज का सुरक्षित प्रसव कराया है. महिला ने बेटे को जन्म दिया है और जच्चा व बच्चा दोनों सुरक्षित हैं.

जांच में गर्भवती महिला को कोरोना संक्रमित पाया गया

अस्पताल सूत्रों ने बताया कि जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर तारापुर अनुमंडल के लखनपुर की महिला को प्रसव पीड़ा के बाद उसके परिजन तारापुर अनुमंडलीय अस्पताल लेकर आए. वहां जांच में वह महिला कोरोना संक्रमित पाई गई. अस्पताल प्रबंधक शिव कुमार ने इसकी सूचना सदर अस्पताल में अधिकारियों को दी. इसके बाद अस्पताल प्रबंधक शिव कुमार के साथ लेबर रूम तैयार कराया गया. सदर अस्पताल के प्रसव कक्ष की प्रभारी एएनएम अनिता कुमारी और रेणु भारती पीपीई किट पहनकर अपने कक्ष में तैनात हुईं.

कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया गया
कोविड प्रोटोकॉल के तहत एंबुलेंस में संक्रमित महिला को पहले पीपीई किट पहनाया गया. प्रसव कक्ष में आने के बाद प्रसव पूर्व एचआइवी और बीपी की जांच की गई. सभी रिपोर्ट अनुकूल आने के बाद संक्रमित महिला का सामान्य तरीके से प्रसव कराया गया. महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया. प्रसव कराने वाली टीम ने बताया कि मां और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं. बेहतर देखभाल की जा रही है. नर्स ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव महिला का प्रसव करा कर वे काफी खुश हैं. इस काम में जरा भी परेशानी नहीं आई. भविष्य में भी वे इस तरह के केस हैंडल करती रहेंगी.

प्रसव कराने वाली टीम बेहद उत्साहित

संक्रमित महिला का सुरक्षित प्रसव कराने वाली टीम को प्रोत्साहित करते हुए पीएचसी प्रभारी डॉ बीएन सिंह ने कहा कि संक्रमित का प्रसव हर हाल में होना चाहिए. कोरोना पॉजिटिव पहचान होने के बाद अस्पताल प्रबंधक के द्वारा पूरी सतर्कता और कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए महिला का सुरक्षित प्रसव कराया गया जो कि काबिलेतारीफ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज