लाइव टीवी

बैंक अधिकारी बनकर पूछते थे ATM का पासवर्ड, 23 राज्यों के 10 हजार लोगों को लगा चुके थे चूना

Arun Kumar Sharma | News18 Bihar
Updated: November 24, 2019, 10:33 AM IST
बैंक अधिकारी बनकर पूछते थे ATM का पासवर्ड, 23 राज्यों के 10 हजार लोगों को लगा चुके थे चूना
मुंगेर के डीआईजी द्वारा गठित टीम ने जालसाजों को झारखंड के जामताड़ा से गिरफ्तार किया है (सांकेतिक चित्र)

गिरफ्तार किए गए लोगों में झारखंड (Jharkhand) जामताड़ा के ताराबहाल गांव निवासी मुमताज मियां के पुत्र लाल मोहम्मद तथा देवडीहा गांव निवासी अब्बास अंसारी के पुत्र मो. जमशेद अब्बास अंसारी शामिल हैं.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 24, 2019, 10:33 AM IST
  • Share this:
मुंगेर. बिहार की मुंगेर (Munger) पुलिस ने साइबर क्राइम (Cyber Crime) करने वाले गिरोह का खुलासा किया है. इस दौरान पुलिस ने दो ठगों (Fraud) को गिरफ्तार किया है. ये ठग फोन पर बैंक अधिकारी (Bank Officer) बनकर लोगों को चूना लगाने का काम करते थे. पुलिस ने इस गिरोह के मास्टर माइंड सहित दो को झारखंड (Jharkjhand) के जामताड़ा से गिरफ्तार किया है. डीआईजी मनु महाराज ने इस बात का खुालसा करते हुए बताया कि इस गिरोह ने देश के 23 राज्यों में दस हजार से ज्यादा लोगों को फोन कर लाखों रुपए का चूना लगाया है.

DIG ने बनाई थी टीम

डीआईजी मनु महराज ने जनता दरबार में साइबर क्राइम से जुड़े कई मामले सामने आने के बाद इस मामले में विशेष टीम गठित की थी. टीम ने वैज्ञानिक अनुसंधान और कई साक्ष्यों के आधार पर मामले की गहनता से जांच करते हुए झारखंड के जामताड़ा के करमाटांंड़ थाना क्षेत्र से दो लोगों को गिरफ्तार किया. इसके साथ ही जमालपुर के ईस्ट कॉलोनी थाना क्षेत्र में आईटी एक्ट के कांड संख्या से संबंधित कई सामान भी बरामद किए गए.

झारखंड के जामताड़ा से हुई गिरफ्तारी

डीआईजी मनु महाराज ने लोगों से अपील की है कि वे ऐसे ठग गिरोह के झांसे में न आएं और न ही किसी के द्वारा फोन पर बैंक की डिटेल मांगे जाने पर अपने बैंक खातों से संबंधित सूचनाएं उसे दें. कोई भी बैंक इस तरह की डिटेल लोगों से नहीं मांगता है. गिरफ्तार किए गए लोगों में झारखंड (जामताड़ा) के ताराबहाल गांव निवासी मुमताज मियां के पुत्र लाल मोहम्मद तथा देवडीहा गांव निवासी अब्बास अंसारी के पुत्र मो. जमशेद अब्बास अंसारी शामिल हैं.

कई बैंक के मिले एटीएम और पासबुक

पुलिस ने इनके पास से आईसीआई बैंक का खाता एवं चेकबुक, बैंक ऑफ इंडिया का पासबुक, एसबीआई तथा सीएसपी का पासबुक, एक आधार कार्ड, एक पैन कार्ड, डेबिट कार्ड, तीन मोबाइल सहित 14,500 रुपये बरामद किया है. डीआईजी ने बताया कि साइबर अपराध का मुख्य सरगना मो. शाहिद तथा लाल मोहम्मद है जो लोगों से मोबाइल पर बैंक अधिकारी बन एटीएम का पासवर्ड, ओटीपी एवं कंपनी का नाम पूछकर उनके खाता से पैसों की निकासी कर लेता था. डीआईजी ने बताया कि दोनों आरोपियों द्वारा अपना जर्मु कबुल कर लिया गया है साथ ही कई महत्वपूर्ण जानकारियां पुलिस पूछताछ के दौरान इन दोनों से हासिल कर ली है.
Loading...

ये भी पढ़ें- सीतामढ़ी में बरपा अपराधियों का कहर, कारोबारी समेत दो को सरेआम मारी गोली

ये भी पढ़ें- फिर खराब हुई पटना की हवा, दिल्ली का रिकॉर्ड टूटा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुंगेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 9:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...