लाइव टीवी
Elec-widget

माइक्रो फाइनेंस कर्मी ने खुद ही रची थी लूट की साजिश, एक गलती से जा पहुंचा हवालात

News18 Bihar
Updated: November 27, 2019, 4:20 PM IST
माइक्रो फाइनेंस कर्मी ने खुद ही रची थी लूट की साजिश, एक गलती से जा पहुंचा हवालात
बिहार के मुंगेर में हुई लूट की घटना का खुलासा करते एसपी

मुंगेर (Munger) में हुई इस लूटकांड (Loot Case) को पुलिस ने चुनौती के तौर पर लिया था. इस मामले में पुलिस ने दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार (Arrest) किया है.

  • Share this:
मुंगेर. मुंगेर पुलिस (Munger Police) ने  प्राइवेट फाइनेंस कर्मी से एक लाख रुपए और बाइक की लूट (Loot) के मामले का मात्र 16 घंटे के अंदर खुलासा कर लिया है. पुलिस के मुताबिक फाइनेंस कर्मी द्वारा खुद ही लूटकांड (Loot Case) की साजिश रची गई थी. उसने अपने सहयोगी सहित दो अन्य दोस्तों के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था और इसके बाद खुद ही कासिम बाजार थाना में मामला दर्ज कराया था.

मुंगेर के एसपी (Munger SP) गौरव मंगला ने बताया कि भाया फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के एरिया कलेक्शन अफसर भागलपुर जिला के सुल्तानगंज थाना क्षेत्र के मिराहट्टी गांव  निवासी प्रमीत कुमार प्रियांशु  द्वारा शाम में कासिम बाजार थाना में दो अज्ञात अपराधियों द्वारा हथियार के बल पर संदलपुर गांव जाने वाले 5 नंबर गुमटी मोड़ के पास लूटपाट  की घटना को अंजाम देने का मामला दर्ज कराया गया था.

फाइनेंस कर्मी द्वारा बताया गया था कि अज्ञात अपराधियों द्वारा हथियार दिखाकर एक लाख दो हजार रूपये और उसकी बजाज बाइक को छीन लिया गया. मामले को उद्भेदन को लेकर एसपी द्वारा एएसपी  हरिशंकर कुमार के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन किया गया था जिसमें कासिम बजार थानाध्यक्ष शैलेश कुमार और टीम द्वारा तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर जांच कर मामले का उद्बभेदन किया गया. पुलिस के मुताबिक इस कांड के वादी प्रमित कुमार प्रियांशु द्वारा ही सुनयोजित तरीके से लूट की घटना का साजिश रची गई थी.

पुलिस ने मामले की पड़ताल के बाद मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के सुनील कुमार यादव के घर से लूटी गई एक लाख दो हजार रूपये और बाइक को बरामद किया. एसपी ने बताया कि इस लूट कांड की घटना में कासिम बजार थाना क्षेत्र के इंद्रजीत कुमार और प्रमित के सहयोगी बांका जिला के अमरपुर थाना क्षेत्र निवासी राहुल कुमार को भी गिरफ्तार किया गया.

एसपी ने कहा कि सीएसपी संचालक एवं माइक्रो फाइनेंस कंपनियों से जुड़े एजेंटों द्वारा लूट का फर्जी मामला दर्ज कराए जाने की यह कोई पहली घटना नहीं है. ऐसी कंपनियों को भी चाहिए कि वह अपने द्वारा चुने गए एजेंटों के चरित्र का सत्यापन करें तथा जनता को भी चाहिए कि वह विश्वसनीय कंपनियों के पास ही अपना पैसा जमा करें.

इनपुट- अरूण कुमार शर्मा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुंगेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 4:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...