Home /News /bihar /

ऊपर मोटरगाड़ी नीचे ट्रेन! श्री बाबू के नाम से जाना जाएगा बिहार का तीसरा 'डबल डेकर ब्रिज'

ऊपर मोटरगाड़ी नीचे ट्रेन! श्री बाबू के नाम से जाना जाएगा बिहार का तीसरा 'डबल डेकर ब्रिज'

मुंगेर रेल सह सड़क पुल का उद्घाटन 11 फरवरी को.

मुंगेर रेल सह सड़क पुल का उद्घाटन 11 फरवरी को.

Munger Rail Road Bridge: मुंगेर में गंगा नदी पर बन रहे श्रीकृष्ण सेतु के सड़क पुल के लोकार्पण की तिथि 11 फरवरी को निर्धारित कर दी गई है. राजेन्द्र सेतु मोकामा और जेपी सेतु पटना के बाद गंगा नदी पर बिहार में यह तीसरा रेल सह सड़क पुल है. मुंगेरवासियों को इसके लिए 18 साल का लंबा इंतजार करना पड़ा है. बता दें कि मुंगेर जिले में विकास को गति प्रदान करने व दक्षिण बिहार और उत्तर बिहार को जोड़ने के लिए वर्ष 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस रेल सह सड़क पुल का शिलान्यास किया था. यहां यह भी बता दें कि बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री श्री कृष्ण सिंह के नाम पर इस पुल का नामकरण किया गया है और इस रेल सह सड़क पुल को श्री कृष्ण सेतु के नाम से जाना जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

मुंगेर. 20 वर्षों के लंबे इंतजार के बाद मुंगेर में गंगा नदी पर बन रहे श्रीकृष्ण सेतु के सड़क पुल के लोकार्पण की तिथि घोषित कर दी गई है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पथ परिवहन मंत्री नितिन गडकरी संयुक्त रूप से 11 फरवरी को इसका उद्घाटन करेंगे. राजेन्द्र सेतु मोकामा और जेपी सेतु पटना के बाद गंगा नदी पर बिहार में यह तीसरा रेल सह सड़क पुल है. बता दें कि इससे पहले 25 दिसंबर, 2021 और 16 जनवरी, 2022 को लोकार्पण की तिथि आगे बढ़ा दी गई थी. बता दें कि मुंगेर जिले में विकास को गति प्रदान करने व दक्षिण बिहार और उत्तर बिहार को जोड़ने के लिए वर्ष 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस रेल सह सड़क पुल का शिलान्यास किया था. हालांकि, इसके बाद पुल बनने के दौरान जमीन अधिग्रहण से लेकर कई बाधाएं सामने आईं. इस दौरान पुल की लागत मूल्य भी 927 करोड़ से बढ़ कर 2774 करोड़ रुपये हो गयी.

मुंगेर डीएम नवीन कुमार ने बताया कि अब करीब दो दशक के लंबे इंतजार के बाद गंगा पुल से एप्रोच पथ की कनेक्टिविटी का काम पूरा हो गया है और इसके लोकार्पण की तिथि भी निर्धारित हो गई है. मुंगेर डीएम ने बताया कि बिहार सरकारी की ओर से सूचना प्राप्त हुई है कि मुंगेर रेल सह सड़क पुल का उद्घाटन 11 फरवरी को होना है. पुल का कार्य लगभग पूर्ण हो चुका है और जो बचा है उसे घोषित तिथि से पूर्व पूरा कर लिया जाएगा.

जिलाधिकारी ने बताया कि पुल का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और परिवहन मंत्री नितिन गड़करी के द्वारा किया जाएगा और 11 फरवरी को यह पुल जनता को सौंप दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि अभी यह तय नहीं है कि लोकार्पण कार्यक्रम वर्चुअल माध्यम से होगा या नहीं. बता दें कि लोकर्पण की तिथि 11 फरवरी को निर्धारित किए जाने के साथ ही एप्रोच पथ के काम को अंतिम रूप देने के लिए निर्माण एजेंसी ने कार्य की रफ्तार चार गुणा बढ़ा दिया है.

बता दें कि मुंगेर घाट पर 4.51 किलोमीटर लंबे 2 लेन रेल सह सड़क पुल का निर्माण कार्य भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण कर रहा है. मोकामा में राजेन्द्र सेतु और पटना में जेपी सेतु के बाद राज्य में गंगा नदी पर यह तीसरा रेल सह सड़क पुल होगा. श्री कृष्ण सेतु पर चल रहे कार्य की प्रगति को लेकर प्रति दिन मुंगेर डीएम मॉनिटरिंग कर रहे हैं. बता दें कि बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री श्री कृष्ण सिंह के नाम पर इस पुल का नामकरण किया गया है और इसे श्री कृष्ण सेतु के नाम से जाना जाएगा.

Tags: Bihar latest news, Munger news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर