Home /News /bihar /

माउंट एवरेस्ट विजेता महिला पर्वतारोही संतोष यादव छठ मनाने पहुंची मुंगेर

माउंट एवरेस्ट विजेता महिला पर्वतारोही संतोष यादव छठ मनाने पहुंची मुंगेर

वर्ष 2014 के 23 अक्टूबर को अचानक सासू मां का फोन आया. सासू मां ने फोन पर कहा कि बहू तुम आ जाओ और छठ की जिम्मेदारी संभालो

    पद्मश्री सम्मान से सम्मानित तीन बार माउंट एवरेस्ट विजेता हरियाणा की बेटी और बिहार की बहू महिला पर्वतारोही संतोष यादव लगातार पांचवें साल छठ करने मुंगेर पहुंची हैं.  संतोष यादव ने कहा कि वैसे तो मैं 1991 से लगातार छठ के मौके पर दिल्ली में अर्घ्य अर्पण करती रही हूं, पर वर्ष 2013 में अर्घ्य देते समय स्वत: अंदर से छठ करने की इच्छा उनके मन में आई. सोचने लगी कि यह कैसे संभव हो पाएगा?

    इसी उधेड़बुन में तब से थी. वर्ष 2014 के 23 अक्टूबर को अचानक सासू मां का फोन आया. सासू मां ने फोन पर कहा कि बहू तुम आ जाओ और छठ की जिम्मेदारी संभालो. अब मैं बूढ़ी हो चुकी हूं. वह सुन मुझे जो सुकून मिला उसका वर्णन नहीं कर सकती हूं. तभी से लगातार मुंगेर आकर छठ कर रही हूं.

    आगे कहा कि छठ पर्व पूरी तरह समर्पण भाव का पर्व है. इसमें किसी भी तरह की गलती क्षमा योग्य नहीं है. आज पूरी सृष्टि भगवान भास्कर के ईद-गिर्द है. पूरे परिवार व समाज के लिए इस परंपरा को निभाना बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. क्योंकि पूरा परिवार व समाज सुरक्षित रहे, इसी मनोकामना के साथ यह पर्व किया जाता है.

    लोकहित में भगवान सूर्यदेव हमें इतनी मानसिक व शारीरिक क्षमता व शक्ति देते हैं कि जिससे इस अनुष्ठान में कोई भूल नहीं हो पाती. संतोष यादव ने कहा कि आज आवश्यकता है संस्कृति को संजोए रखने की जिसकी प्रेरणा हमें पर्व या उत्सवों से मिलती है.जो न केवल हमें उत्साह देते हैं बल्कि नियम से भी जोड़ते है.

    संतोष यादव का ससुराल मुंगेर के गुलजार पोखर मोहल्ले में है. हरियाणा के रेवड़ी जिले के जोनियावास गांव में पैदा हुई संतोष यादव ने तीन बार एवरेस्ट फतह करने में कामयाबी पाई है. संतोष यादव पर्वतारोही मुंगेर के गुलजार पोखर निवासी उत्तम को जीवन साथी बनाने के बाद बिहार से उनका अटूट रिश्ता बन गया है. इसके बाद छठ पर्व को उन्हें करीब से जानने और समझने का मौका मिला. छठ पर्व की पवित्रता और लोगों में निष्ठा को देख कर वो काफी प्रभावित हुईं और उनके मन में छठ पर्व करने की प्रेरणा आई.

    ये भी पढ़ें:

    दिल्ली में अमित शाह से पहले शरद यादव से मिले उपेंद्र कुशवाहा, पाला बदलने की अटकलें गर्म

    बिहार: उपेंद्र कुशवाहा को बड़ा झटका, JDU में शामिल होंगे शेखर-पासवान!

    छठ महापर्वः आज खरना है, शुरू होगा 36 घंटे का निर्जला उपवास

    Tags: Bihar News, Mount Everest

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर