Home /News /bihar /

'चुनाव जीते हो, खस्सी का मांस खिलाओ', धोखे से नक्सलियों ने नवनिर्वाचित मुखिया का गला रेत डाला

'चुनाव जीते हो, खस्सी का मांस खिलाओ', धोखे से नक्सलियों ने नवनिर्वाचित मुखिया का गला रेत डाला

नक्सलियों ने नवनिर्वाचित मुखिया परमानंद टुडू को गला रेतकर मार डाला.

नक्सलियों ने नवनिर्वाचित मुखिया परमानंद टुडू को गला रेतकर मार डाला.

Munger News: मिली जानकारी के अनुसार नवनिर्वाचित मुखिया परमानंद टुडु को नक्सलियों ने चुनाव न लड़ने की हिदायत दी थी, पर नक्सली खौफ को न मानते हुए चुनाव लड़े और जीते भी. इससे वे नक्सलियों की हिट लिस्ट में आ गए. वहीं, इस मामले में मृतक के पिता और ग्रामीणों ने बताया कि रात में जब उसकी हत्या का दी गई तो उसके बाद उन लोगों को पता चला. लोगों ने दबी जुबान से बताया कि नक्सलियों ने परिणाम भुगतने की पहले भी चेतावनी दी थी. हत्या के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है. ज्यादा रात और नक्सली इलाका होने के कारण पुलिस वहां ज्यादा कुछ नहीं कर सकी.

अधिक पढ़ें ...

मुंगेर. जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर नक्सल प्रभावित थानां लड़ाइयां टांड थानां क्षेत्र अंतर्गत पहाड़ों की तराई में बसा छोटा सा खूबसूरत पंचायत आजिमगंज पंचायत के मथुरा गांव में बीती रात नक्सलियों ने रक्त रंजित कर दिया. दरअसल आजिमगंज पंचायत के नव निर्वाचित मुखिया परमानंद टुडु को बीती रात हथियार बंद नक्सलियों ने उसके घर से निकाल घर के थोड़ी दूर पे ही ले जा गला रेत हत्या कर दी. हत्या के पीछे की वजह पंचायत चुनाव में जीत बताई जा रही है. दरअसल नक्सलियों ने चुनाव से पूर्व ही क्षेत्र में एक मुखिया के पक्ष में ग्रामीणों को वोट देने का फरमान जारी करते हुए मृतक मुखिया को चुनाव न लड़ने की धमकी दी थी. लेकिन, परमानंद टुडु ने इन धमकियों की परवाह न करते हुए न सिर्फ चुनाव लड़ा बल्कि जीत भी हासिल की. माना जा रहा है कि इसी खिसियाहट में नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम दिाय है.

मृतक मुखिया के पुत्र अभिषेक ने बताया कि बीती रात लागभग 9 बजे 6 की संख्या आये हथियारबंद नक्सलियों ने पहले तो घर मे घुस पापा को उठाया. इसके बाद कहा कि चुनाव जीते हो तो खस्सी का मांस खिलाओ. इसके कुछ देर बाद घर से निकाल कुछ दूर ले जा गला रेत हत्या कर दी. अभिषेक ने बताया कि उसके पिता 31 दिसंबर को मुखिया पद की शपथ लेते, लेकिन नक्सलियों ने इससे पहले ही उनकी हत्या कर दी. हत्या के बाद से ही गांव में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है.

मृतक मुखिया परमानंद टुडु रिटायर्ड रेलकर्मी श्यामसुंदर टुडु का छोटा बेटा है. एक बेटा सेना में है तथा मृतक मुखिया खेती बाड़ी कर अपना जीवन यापन कर अपने दो बेटा एक बेटी और पत्नी का भरण पोषण करता था. जानकारी के अनुसार वर्ष 2016 में भी मृतक ने चुनाव लड़ा था और उस समय भी नक्सलियों ने चुनाव न लड़ने की चेतावनी दी थी. हालांकि उस समय चुनाव न जीत सका. पर इस बार बदलाव की बयार में मृतक ने मुखिया पद के लिये आजिमगंज पंचायत में दांव खेला और जीत हासिल की थी.

लोग बताते हैं कि इस बार भी मुखिया को नक्सलियों ने चुनाव न लड़ने की हिदायत दी थी, पर नक्सली खौफ को न मानते हुए चुनाव लड़े और जीते भी. इससे वे नक्सलियों की हिट लिस्ट में आ गए. वहीं, इस मामले में मृतक के पिता और ग्रामीणों ने बताया कि रात में जब उसकी हत्या का दी गई तो उसके बाद उन लोगों को पता चला. लोगों ने दबी जुबान से बताया कि नक्सलियों ने परिणाम भुगतने की पहले भी चेतावनी दी थी. हत्या के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है. ज्यादा रात और नक्सली इलाका होने के कारण पुलिस वहां ज्यादा कुछ नहीं कर सकी.

Tags: Bihar News, Bihar Panchayat Chunaw, Bihar Panchayat Election, Bihar panchayat elections, Munger news, Murder, Naxali, Naxali attack, Naxalites, Naxalites news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर