होम /न्यूज /बिहार /मुंगेर के सबसे बड़े अस्पताल में मरीजों के इलाज में लापरवाही, जानें पूरा मामला 

मुंगेर के सबसे बड़े अस्पताल में मरीजों के इलाज में लापरवाही, जानें पूरा मामला 

बिहार के मुंगेर जिला के सदर अस्पताल में मरीजों की इलाज में लापरवाही का मामला सामने आया है. जहां सामान्य मरीजों के साथ ग ...अधिक पढ़ें

    सिद्धांत राज/मुंगेर. बिहार के मुंगेर जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से बेपटरी हो गई है. सरकारी अस्पताल में गरीब और मध्यम वर्गीय लोग अपनी स्वास्थ्य से जुड़ी समस्या को लेकर इलाज कराने आते हैं. लेकिन,सबसे बड़े अस्पताल में से एक सदर अस्पताल में मरीजों के इलाज करने के तरीकों में लापरवाही  बरती जा रही है.

    मुंगेर जिला के सदर अस्पताल में लापरवाही का बड़ा उदहारण देखने को मिला है. सामान्य बीमारी से पीड़ित के साथ-साथ ही गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों को अस्पताल के बरामदे पर बेड लगाकर एडमिट कराया गया है. बरामदे को एक तरफ से कपड़े का पर्दा डाल दिया गया है और एक हीं लाइन से 10 से 15 बेड लगा दिया गया है. अस्पताल में एडमिट मरीज इसी व्यवस्था के बीच इलाज कराने को मजबूर हैं. सदर अस्पताल में अस्पताल में डेंगू के दो मरीज एडमिट हैं.

    मरीजों का वार्ड कुत्तों का बन गया है आशियाना
    सदर अस्पताल में मरीज और अस्पताल की साफ-सफाई को लेकर निगरानी टीम की कमी दिखी. मरीज के वार्ड में कुत्तों ने डेरा जमा रखा है. अस्पताल के वार्डों में दिनभर कुत्तों की चहलकदमी लगी रहती है. यह नजारा अस्पताल के अधिकांश हिस्सों में देखने को मिला. अस्पताल में साफ-सफाई के मामले में भी खानापूर्ति हीं नजर आया.

    सीएस के मुताबिक अस्पताल में सारी व्यवस्था हैं मौजूद
    सदर अस्पताल में मौजूद सिविल सर्जन डॉ. पीएम सहाय डेंगू मरीज और उसकी व्यवस्था को लेकर कुछ भी स्पष्ट बताने से बचते नजर आए. उन्होंने डेंगू मरीज को लेकर सिर्फ इतना कहा कि अस्पताल में सारी व्यवस्थाएं मौजूद है. यदि डेंगू मरीज का वार्ड भर जाता है तो वैसे मरीजों की इलाज के लिए बरामदा को कपड़े से घेरकर वार्ड तैयार कर रखा गया है.

    Tags: Bihar News, Munger news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें