कोरोना लॉकडाउन में चाय का ठीया बंद, लेकिन चल रही थी बंदूक की दुकान

मुंगेर में अवैध गन फैक्ट्री चलाने के आरोप में गिरफ्तार.

मुंगेर में अवैध गन फैक्ट्री चलाने के आरोप में गिरफ्तार.

मुंगेर में किराना दुकान की आड़ में मिनी गन फैक्ट्री चलाने वाले शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया. स्पेशल टीम की कार्रवाई में पुलिस घर में चल रही दुकान से बड़ी मात्रा में अवैध हथियार बनाने का सामान भी जब्त किया.

  • Share this:

मुंगेर. बिहार में इन दिनों कोरोना की रोकथाम के लिए लॉकडाउन है. छोटी-मोटी दुकानों से लेकर बड़े मॉल या स्टोर, सब बंद हैं. ऐसे में चौक-चौराहों पर चाय का ठीया खुला मिले, यह भी मुश्किल है. लेकिन मुंगेर में अवैध हथियारों की फैक्ट्री और दुकान चलाने वाले इन सबसे अंजान है. ये आपराधिक तत्व अवैध रूप से हथियार बेचने का धंधा कर रहे हैं. खुद की दुकान से न हो, तो किसी किराना की दुकान या अन्य दुकानों का सहारा लेकर. बीते दिनों मुंगर पुलिस ने ऐसे ही एक शख्स को गिरफ्तार किया जो घर में चल रही किराने की दुकान से अवैध हथियार बेचने का धंधा कर रहा था.

मुंगर पुलिस ने बीते दिनों गुप्त सूचना के आधार पर मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा किया. साथ ही अवैध हथियार निर्माण और बेचने के आरोपी सुभाष शर्मा को भी रंगेहाथ गिरफ्तार किया. हवेली खड़गपुर के पूरब अजीमगंज इलाके में स्थित पटेल चौक के पास पुलिस ने सुभाष शर्मा के घर में चल रही दुकान में छापा मारकर बड़ी मात्रा में अवैध हथियार जब्त किए. इस घर से पुलिस को हथियार बनाने वाली सामग्री भी मिली. पुलिस ने मुताबिक आरोपी सुभाष अपने घर में ही अवैध हथियार बनाता था. पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर एक टीम बनाकर कार्रवाई की, तो वह पकड़ में आ गया.

पुलिस के मुताबिक सुभाष के घर हथियार बनाने वाली सामग्री के साथ-साथ कई अवैध गन भी बरामद किए गए. पुलिस ने रेती, स्प्रिंग, मैगजीन, वेल्डिंग मशीन, ग्राइंडर मशीन, आरी पत्ती, छेनी, हथौड़ी सहित कुल 35 विभिन्न प्रकार के औजार बरामद किए हैं. साथ ही विदेशी शराब की कुछ बोतलें भी मौके से मिली हैं. पुलिस का कहना है कि सुभाष शर्मा के परिवार के लोग मुंगेर गन फैक्ट्री में काम करते थे. इसके पहले भी अवैध हथियार के निर्माण में इन लोगों पर कार्रवाई हो चुकी है. किराना दुकान की आड़ में अवैध मिनी गन फैक्ट्री का धंधा चल रहा था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज